पर्यावरण दिवस पर जगह जगह पेड़ लगाए गए

मानव जीवन के लिए सबसे जरूरी चीज है ऑक्सीजन औऱ ऑक्सीजन सबसे ज्यादा पेड़ पौधे से मिलता है। बढ़ती जनसंख्या की वजह से धरती से पेड़ पौधे दिनों दिन कम होते जा रहे हैं।इसी सब बातों को ध्यान में रखकर लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल पर्यावरण दिवस का आयोजन किया जाता है।सन 1974 को पहली बार पर्यावरण दिवस का आयोजन किया गया था।अब हर साल पांच जून को ‘विश्व पर्यावरण दिवस’ मनाया जाता है।ताकि बढ़ते प्रदूषण से इस धरा को बचाया जा सके।47वें विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मोकामा और आसपास के क्षेत्रों में भी लोग जागरूकता फैला रहे हैं। जगह जगह पेड़ लगाएं जा रहे हैं।

नगर परिषद में पेड़ लगाते कार्यपालक पदाधिकारी मुकेश कुमार


इस अवसर पर आज मोकामा नगर परिषद कार्यालय में कार्यपालक पदाधिकारी मुकेश कुमार ने पीपल का पेड़ लगाया और लोगों को संदेश दिया कि हमलोगों को अपने जीवन में ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए।

कृषि विज्ञान केंद्र ,बाढ़ में पेड़ लगाते वैज्ञानिक गण


बाढ़ अगवानपुर कृषि विज्ञान केंद्र के परिसर में डॉ ब्रजेश पटेल, डॉ विष्णुदेव सिंह के नेतृत्व में कई दर्जन फलदार ,औषधीय और छायादार पेड़ लगाए गए।इस अवसर पर कई ग्रामीणों ने भी उनका साथ दिया।


मोकामा के छात्रों ने भी पेड़ लगाए और इस धरती को हरा भरा प्रदूषण मुक्त बनाने में अपना अहम योगदान दिया। सकरवार टोला के छात्र अविनाश सिंह शिवम ने केले का पेड़ लगाया और कहा कि इससे हमें फल मिलेंगें जिसे खाकर हम स्वस्थ रहेंगे और धरती माता हरी भरी रहेेगी।

फलदार पेड़ लगाता हुआ छात्र शिवम

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।