बाहुबली सूरजभान ने क्यों कहा, गर्दन दबाइएगा तो असर बहुत खतरनाक होगा

बाहुबली सूरजभान ने क्यों कहा, गर्दन दबाइएगा तो असर बहुत खतरनाक होगा

पटना। पूर्व सांसद और लोजपा के वरिष्ठ नेता बाहुबली सूरजभान सिंह का एक बयान इन दिनों सुर्खियों में है। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर एनडीए में सीट बंटवारे के मंथन पर नई दिल्ली में लोजपा की बैठक हुई थी। इसमें सूरजभान सिंह भी उपस्थित थे। लोजपा ने भाजपा और जदयू को दो टूक कहा है कि लोजपा को कम से कम 36 सीटें चाहिए। पहले लोजपा ने 143 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कही थी।

इसी बैठक के बाद सूरजभान ने कहा कि अगर आप किसी की गर्दन दबाइएगा तो उसका असर बहुत खतरनाक होता है। उन्होनें कहा कि अगर आप बिल्ली का भी गर्दन दबाएंगे तो उसका पलटवार काफी खतरनाक हो जाता है। मीडिया में उनके इस बयान के कई कयास लगाये जा रहे हैं। एक प्रकार से इसे सीधे तौर पर लोजपा की भाजपा और जदयू को चेतावनी के तौर पर देखा जा रहा है कि अगर लोजपा को सम्मानजनक सीटें नहीं मिली तो एनडीए को नुकसान हो सकता है।

बुधवार को दिल्ली में एलजेपी सासंदों की हुई बैठक के बाद सूरजभान सिंह ने कहा कि बिहार में हमारी 36 सीटें बनती हैं। 123 सीट पर जेडीयू-बीजेपी के सीटिंग विधायक हैं जबकि बाकी की बची 120 सीटों में से हमें पसंद की 20 सीटें चाहिए। सूरजभान ने कहा कि इसके बाद बची हुई 100 सीटों में से बी और सी ग्रेड की 16 सीटें हमें दी जाए ताकि हमारा आंकड़ा 36 को छू जाए।

मीडिया के एक धड़े में कहा जा रहा है कि लोजपा को 25 से भी कम विधानसभा सीटें देने की चर्चा है। इसी पर प्रतिक्रिया देते हुए सूरजभान ने गर्दन दबाने वाला बयान दिया है।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।