बड़हिया और हाथीदह में नहीं रुकेगी विक्रमशिला स्पेशल, ग्रामीणों में रोष

बिहार,पटना। भागलपुर-आनंद विहार विक्रमशिला सुपरफास्ट एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन का ठहराव बड़हिया और हाथीदह में नहीं देने से स्थानीय लोगों में रोष है।

विक्रमशिला एक्सप्रेस वर्ष 1986 से बड़हिया में रुक रही है। लेकिन कोरोना काल में ट्रेन परिचालन बंद होने के बाद अब जब 12 सितंबर से विशेष ट्रेनों के परिचालन की घोषणा की गई तब विक्रमशिला एक्सप्रेस का ठहराव बड़हिया में नहीं दिया गया है। ट्रेन का ठहराव बिना किसी सूचना के हटाने से ग्रामीणों और यहां से ट्रेन पकड़ने वाले यात्रियों में आक्रोश है।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770,9743484858

लोगों को संदेह है कि रेलवे इसी बहाने ट्रेन का हमेशा के लिए बड़हिया से ठहराव हटा देगी। इससे स्थानीय लोगों को आवाजाही में परेशानी होगी। ग्रामीणों का कहना है कि अगर ठहराव बहाल नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

बिहार दैनिक यात्री संघ शाखा बड़हिया के पूर्व अध्यक्ष एसपी सिंह के अनुसार 1986 में बड़हिया पैसेंजर्स एसोसिएशन के संयोजक कृष्ण मोहन सिंह ने तत्कालीन रेल राज्य मंत्री माधव राव सिंघिया और रेलवे बोर्ड के चेयरमैन आरके जैन से संपर्क कर एवं केंद्रीय मंत्री कृष्णा शाही के सहयोग से विक्रमशिला ट्रेन का ठहराव बड़हिया में करवाया था। तब विक्रमशिला एक्सप्रेस भागलपुर से पटना के बीच मात्र जमालपुर, किऊल एवं मोकामा में रुकती थी।

इसी तरह हाथीदह में भी पिछले करीब ढाई दशक से ट्रेन रुक रही है। अब अचानक ट्रैन का ठहराव हटाने से हाथीदह सहित बेगूसराय से आने वाले यात्रियों को परेशान होने की चिंता सता रही है।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।