कुलपति ने किया दलहन अनुसंधान केंद्र का निरीक्षण

मोकामा। बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर भागलपुर के कुलपति डॉ आरके सोहाने ने सोमवार को दलहन अनुसंधान केंद्र मोकामा का निरीक्षण किया। उन्होंने केंद्र में दलहनों फसलों पर किए जा रहे अनुसंधान को खेतों में जाकर देखा। मोकामा टाल की मिट्टी के अनुरूप चना, मसूर, खेसारी के विभिन्न किस्मों को अपनाकर किसान कैसे उपज बढ़ा सकते हैं इस हेतु मार्गदर्शन किया।


अनुसंधान केंद्र में मौजूद किसान कन्हैया कुमार, चंदन कुमार, प्रणव शेखर शाही, नवीन कुमार बिट्टू आदि ने दलहनी फसलों से संबंधित अपने अनुभव साझा किए। साथ ही टाल में बेहतर बीज, मिट्टी जांच, कीट नियंत्रण, खर पतवार निर्मूलन आदि पर बेहतर अनुसंधान और अत्याधुनिक तकनीकों और उपकरणों की दलहन अनुसंधान केंद्र में उपलब्धता का डॉ सोहाने से अनुरोध किया।


कुलपति का मोकामा के किसानों की ओर से हरा चना और मशरूम भेंटकर अभिनंदन किया गया। डॉ सोहाने ने माहेश्वरी एग्रिकल्चर फार्म पर मत्स्य पालन देखा और खेती में अपनाए गए नवाचार की सराहना की। दलहन अनुसंधान केंद्र के प्रमुख राजकिशोर राय ने कुलपति को अनुसंधान से संबंधित जानकारी दी।



टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।