फिर रुका गंगा पर सेतू निर्माण मुख्यमंत्री नीतीश का है ड्रीम प्रोजेक्ट।

फिर रुका गंगा पर सेतू निर्माण मुख्यमंत्री नीतीश का है ड्रीम प्रोजेक्ट।(Then the bridge construction on the Ganga stopped)

बिहार।पटना।मोकामा।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट बख्तियारपुर ताजपुर गंगा ब्रिज का काम फिर रुक गया है।2011 के नवम्बर महीने से शुरू हुआ ब्रिज निर्माण पिछले 3 साल से रुकता ही जा रहा है।ज्ञात हो कि यह पीपीपी मोड से बनने वाली राज्य की पहली परियोजना है।(Then the bridge construction on the Ganga stopped)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

Then the bridge construction on the Ganga stopped
विज्ञापन

बख्तियारपुर -ताजपुर महासेतु का निर्माण कार्य पिछले साढ़े 3 साल से बन्द है।(Mokama Online)

बख्तियारपुर -ताजपुर महासेतु का निर्माण कार्य पिछले साढ़े 3 साल से बन्द है।इसी साल 16 अप्रैल को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा पुनः कार्य प्रारंभ करवाने की बात हुई थी पर फिर भी यँहा कार्य बंद पड़ा है।जिन बैंकों ने महासेतु को बनाने के लिए निर्माण एजेंसी को करोड़ों रुपये दिया था उन्होंने कोर्ट का रुख अपना लिया है।कोर्ट ने बैंक का आग्रह स्वीकार करते हुए आर्डर जारी किया है कि महासेतु बन जाने के बाद पहले टोल वसूली से मिली राशि बैंकों को देनी होगी उसके बाद ही राज्य सरकार अपना पैसा लेगी।(Then the bridge construction on the Ganga stopped)

Then the bridge construction on the Ganga stopped
विज्ञापन

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

पीपीपी मोड से बनने वाली यह बिहार की पहली परियोजना है।(Mokama Online)

हालांकि मुख्यमंत्री की पहल पर बनी आपसी सहमति के अनुसार महासेतु बन जाने के बाद टोल टैक्स वसूली से मिली राशि अनुपात में बैंकों और राज्य सरकार को एक साथ मिलनी थी।उसके बाद निर्माण एजेंसी अपनी राशि टोल से वसूल सकती है।ज्ञात हो कि पीपीपी मोड से बनने वाली यह बिहार की पहली परियोजना है। इस प्रोजेक्ट में केंद्र सरकार और राज्य सरकार के साथ साथ निर्माण एजेंसी को भी राशि लगाना है।महासेतु के बन जाने के बाद एजेंसी को टोल के माध्यम से अपनी राशि वसूलनी है।(Then the bridge construction on the Ganga stopped)

Then the bridge construction on the Ganga stopped
विज्ञापन

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

16 अप्रैल 2022 को 935 करोड़ रुपये अतिरिक्त लोन देकर फिर से कार्य प्रारंभ करवाया गया था।(Mokama Online)

16 अप्रैल 2022 को 935 करोड़ रुपये अतिरिक्त लोन देकर फिर से कार्य प्रारंभ करवाया गया था।इस प्रोजेक्ट को समाप्त करने की अवधि 2024 तय की गई थी।अब हुई देरी के कारण जुलाई 2025 तक इसके निर्माण कार्य पूरा होने की संभावना जताई गई है।जब 2011 में महासेतु का निर्माण कार्य शुरू हुआ था तो निर्माण पूरा करने की अवधि 2016 तक थी।जमीन अधिग्रहण और निर्माण एजेंसी को लोन मिलने में हुई देरी के कारण निर्माण अवधि 2018 कर दी गई थी।(Then the bridge construction on the Ganga stopped)

मोकामा और आस पास के इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-नए थानाध्यक्ष को दिया 50 रुपये घूस कहा हम तो 50 रुपये ही देते हैं साहब।

ये भी पढ़ें:-मोकामा में पदस्थापित क्लर्क को DM ने दी जबरिया रिटायरमेंट की सजा

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!