संसद में गूंजा मोकामा टाल का मुद्दा।

संसद में गूंजा मोकामा टाल का मुद्दा।(The issue of Mokama Tall echoed in Parliament)

बिहार।पटना।मोकामा।जिस मोकामा टाल को मलाई कहा जाता था आज नाली बन कर रह गया है।प्राकृतिक संसाधनों से भरपुर इस क्षेत्र को यँहा के नेताओं ने नरक बना दिया। जिस मोकामा टाल की एक साल की फसल से देश को तीन साल तक दलहन खिलाया जा सकता है वह खेत पिछले 6 सालों से बुआई का इंतजार कर रहा है।(The issue of Mokama Tall echoed in Parliament)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

The issue of Mokama Tall echoed in Parliament
विज्ञापन

मोकामा टाल के मराँची औंटा टाल के किसान पिछले 6 सालों से अपनी बदहाली पर आँसू बहा रहे हैं। (Mokama Online)

मोकामा टाल के मराँची औंटा टाल के किसान पिछले 6 सालों से अपनी बदहाली पर आँसू बहा रहे हैं। न नेता न अधिकारी किसी को मोकामा टाल के किसानों के दर्द से कोई सरोकार नहीं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिस मोकामा टाल को दो फसला करवाने की राजनीति करते करते राजनीति के शिखर तक पहुँचे उन्होंने ने भी मोकामा टाल के किसानों की समस्याओं पर अपनी आंखें मूंद ली।(The issue of Mokama Tall echoed in Parliament)

The issue of Mokama Tall echoed in Parliament
विज्ञापन

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

राज्यसभा सांसद प्रोफेसर राकेश सिन्हा ने मोकामा के किसानों के दर्द को शून्यकाल में उठाया। (Mokama Online)

कल राज्यसभा सांसद प्रोफेसर राकेश सिन्हा ने मोकामा के किसानों के दर्द को शून्यकाल में उठाया। उन्होंने न केवल मोकामा बल्कि बिहार के कई जिलों के किसानों के मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि बिहार के कई जिलों के अलावा उतर प्रदेश, आसाम के किसान भी जल जमाव के कारण खेती नहीं कर पा रहे हैं।(The issue of Mokama Tall echoed in Parliament)

राकेश सिन्हा ने सीधे शब्दों में कहा कि कृषि योग्य भूमि पर जल जमाव का सीधा असर किसानों पर पड़ता है। (Mokama Online)

राकेश सिन्हा ने सीधे शब्दों में कहा कि कृषि योग्य भूमि पर जल जमाव का सीधा असर किसानों पर पड़ता है।बिहार, उतर प्रदेश और आसाम के लाखों हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि पर जलजमाव के कारण खेती नहीं हो पा रहा है।लाखों किसान जलजमाव की समस्या से परेशान हैं सरकार को चाहिए कि एक कमिटी गठित कर ठोस नीति बना कर इसका अध्ययन कर इस समस्या से निजात दिलाये ताकि आने वाले सालों में किसानों को राहत मिल सके।(The issue of Mokama Tall echoed in Parliament)

प्रणव शेखर शाही ने किसानों की इस गंभीर समस्या को सदन में उठने पर राकेश सिन्हा का आभार व्यक्त किया। (Mokama Online)

राज्यसभा के शून्यकाल में प्रो राकेश सिन्हा द्वारा कृषि योग्य भूमि पर जल जमाव के मुद्दे को उठाने पर सामाजिक कार्यकर्ता प्रणव शेखर शाही ने किसानों की इस गंभीर समस्या को सदन में उठने पर उनका आभार व्यक्त किया। (The issue of Mokama Tall echoed in Parliament)

मोकामा और आस पास के इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-नए थानाध्यक्ष को दिया 50 रुपये घूस कहा हम तो 50 रुपये ही देते हैं साहब।

ये भी पढ़ें:-मोकामा में पदस्थापित क्लर्क को DM ने दी जबरिया रिटायरमेंट की सजा

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!