ध्यान दीजिए, वर्तमान मालिक के नाम पर ही बनेगा खतियान, 20 जिलों में शुरू हुआ सर्वे कार्य

ध्यान दीजिए, वर्तमान मालिक के नाम पर ही बनेगा खतियान, 20 जिलों में शुरू हुआ सर्वे कार्य

पटना। भूमि विवाद के मामलों का निपटान और जमीन मालिकों को कागजी तौर पर मालिकाना हक सुनिश्चित करने की कवायद बिहार सरकार ने शुरू कर दी है। इसके लिए पहले चरण में राज्य के 20 जिलों में भूमि सर्वेक्षण का काम शुरू किया गया है।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770,9743484858

बिहार विशेष सर्वेक्षण बंदोबस्त नियमावली 2012 के तहत हो रहे सर्वे काम में गांव की सीमा, भूखंडों का सीमांकन एवं जमीन संबंधी तथ्यों की जांच पड़ताल होगी। सर्वे के मॉनिटरिंग के लिए राज्य स्तर से नोडल अफसर नियुक्त किए गए हैं। वे इन शिविरों का निरीक्षण कर रहे हैं।

पहले चरण में नालंदा, जहानाबाद, मुंगेर, लखीसराय, सुपौल, अररिया, अरवल, कटिहार, किशनगंज, खगड़िया, जमुई, शिवहर, सहरसा, सीतामढ़ी, चंपारण, पूर्णिया, बांका, शेखपुरा, बेगूसराय और मधेपुरा जिलों में सर्वे कार्य होगा।

इसके तहत अब जीवित रैयत यानी जमीन के वर्तमान मालिक के नाम पर ही नया खतियान बनेगा। राज्य के कई जिलों में 1950 के बाद पहली बार सर्वे हो रहा है। यह खतियान सर्वे कार्य के साथ बनेगा।

सर्वे काम में सर्वे निदेशालय के अधिकारी और कर्मियों की छह टीमें शामिल हैं। वहीं, सभी जिलों में अमीन, सहायक बंदोबस्त पदाधिकारियों, कानूनगो, लिपिकों की पदस्थापना का काम भी पूरा हो गया है। इसके लिए जिला बंदोबस्त कार्यालय और संबंधित प्रखंडों में शिविर भी बनाए गए हैं।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।