मोकामा में सुंदर कांड पाठ का आयोजन

मोकामा के संकटमोचन मन्दिर परिसर में मंगलवार को श्रीरामदल के कार्यकर्ताओं द्वारा सुंदर कांड पाठ का आयोजन किया गया।ज्ञात हो कि होलाष्टक 22 से 28 मार्च तक है। होलाष्टक में शुभ कार्य वर्जित होते है, लेकिन जन्म से जुड़े काज किए जा सकते है। भक्त प्रह्लाद की भक्ति से नाराज होकर हिरण्यकश्यप ने होली से पहले के आठ दिनों में प्रह्लाद को कई प्रकार की यातनाएं दीं, तभी से इन आठ दिनों को हिन्दू धर्म में शुभ नहीं माना गया है। होलाष्टक के दौरान भगवान विष्णु और भगवान शिव की पूजा करने से विशेष लाभ मिलता है। मान्यता है कि होलाष्टक में पूजा पाठ करने और भगवान का स्मरण भजन करने से शुभ फल की प्राप्ति होती हैं। इस दौरान भगवान नृसिंह और हनुमान जी की पूजा का विशेष महत्व है। 

कार्यक्रम से पूर्व विधिवत पूजन कर श्री सुंदरकांड पाठ एवं भजन कीर्तन का शुभारंभ किया।पाठ के बाद प्रसाद वितरण किया गया। इस अवसर पर श्री राम दल के संस्थापक छोटू सिंह, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमृतांशू वत्स एवँ बिहार प्रदेश के राजा जी झारखंड प्रदेश के राहुल जी, बाढ़ जिला के चन्दन सिंह जी जिला अध्यक्ष डब्ल्यू जी, जिला कोषाध्यक्ष धीरज जी, जिला सचिव बिट्टू जी, गणेश जी ,मोकामा से शुभम जी, अमन जी, संतोष जी, विश्वजीत जी सहित अन्य भक्तजन उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!