आखिर क्यों सिखों ने खोल दी अपनी पगड़ी

घटना आज सुबह पंजाब के नवांशहर की है। शहर से बमुश्किल 5 किमी दूर दो गांव के बीच खेत पर एक मिग विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। जब लोगों ने देखा तो वहां दौड़े आए और पायलट को धूप से बचाने अपनी पगड़ी खोल दी।

चूहडपुर गांव के 70 वर्षीय सतपाल सिंह सुबह खेत में काम कर रहे थे। उन्होंने आसमान में दो लड़ाकू विमान देखे। अचानक एक विमान में आग लग गई। आग लगी तो विमान हवा में ही था। कुछ ही मिनटों बाद विमान से एक पैराशूट खेत में आकर गिरा। और उस पायलट से 200 मीटर दूर एक दूसरे खेत में विमान जाकर गिरा।खेतों में काम कर रहे लोग उस पायलट की ओर दौड़े। तेज धूप से पायलट को बचाने लोगों ने अपनी पगड़ी खोल दी। लोगों ने पायलट को पानी पिलाया और देखभाल की जब तक एयरफोर्स का हेलिकॉप्टर पायलट को लेने नहीं आ गया।

हेलिकॉप्टर आने में लगभग आधे घंटे का वक्त लगा, तब तक स्थानीय लोग वहीं रूके रहे और प्रशासन के लोगों को भी सूचना दी। विमान के गिरने से खेत में 15 फीट गहरा गड्‌डा हो गया। यही नहीं गिरने के बाद विमान में दो बार धमाका भी हुआ।

ये दोनों ही विमान आदमपुर एयरफोर्स बेस से ट्रेनिंग मिशन पर उड़े थे। एयरफोर्स के प्रवक्ता विंग कमांडर इंद्रनील नंदी के मुताबिक 8 मई को सुबह 10:45 बजे एक मिग-29 विमान ट्रेनिंग पर था, तभी जालंधर एयरबेस के पास हादसा हो गया। विमान में तकनीकी गड़बड़ी आ गई थी, लिहाजा पायलट विमान को नियंत्रित करने में नाकाम रहा। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।