बागी बिगाड़ेंगे नीतीश का खेल, जदयू से नाराज 18 बागी चुनाव में

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर से राज्य में सरकार बनाने के लिए जीतोड़ मेहनत कर रहे हैं। लेकिन, इस बार के चुनाव में कई सीटों पर उनकी ही पार्टी से नाराज होकर अलग चुनाव लड़ रहे बागी अब जदयू के लिए नई चुनौती बन गए हैं।

जदयू से बागी होकर चुनाव लड़ने वालों में कई पूर्व या मौजूदा विधायक और मंत्री भी शामिल हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे नेता हैं जो लंबे समय से जदयू में थे और टिकट के प्रबल दावेदार थे। इन नेताओं में फिलहाल 18 ऐसे हैं जो अलग अलग विधानसभा क्षेत्र से किस्मत आजमा रहे हैं।

लालगंज से मुन्ना शुक्ला ने भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ नामंकन किया है। वे जदयू नेता थे और पति-पत्नी कई बार चुनाव जीत चुके हैं। जगदीशपुर सीट से टिकट नहीं मिलने पर श्रीभगवान सिंह कुशवाहा लोजपा के सिम्बल पर जदयू प्रत्याशी के खिलाफ डटे हैं। विधायक ददन पहलवान निर्दलीय डुमरांव से जदयू उम्मीदवार अंजुम आरा के खिलाफ मैदान में हैं। इन दोनों के अलावा पार्टी ने बगावत करके चुनाव लड़ रहे पूर्व मंत्री रामेश्वर पासवान, पूर्व विधायक रणविजय सिंह, सुमित सिंह, रामचन्द्र सदा, ललन भुइयां समेत अबतक 19 नेताओं को निकालकर सख्त संदेश देने की कोशिश की है।

वहीं कई ऐसे नेता हैं जो बागी होकर चुनाव तो नहीं लड़ रहे हैं लेकिन उन्होंने जदयू या एनडीए उम्मीदवार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। ऐसे कई नेता और उनके समर्थक खुलेआम एनडीए प्रत्यासी के लिए मुसीबत बने हुए हैं।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।