विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काटेंगे प्रभुनाथ

विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काटेंगे प्रभुनाथ

पटना। 3 जुलाई 1995 को मशरख विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने अशोक सिंह की उनके पटना स्थित सरकारी आवास में बम मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में बाहुबली छवि वाले नेता प्रभुनाथ सिंह को आरोपी बनाया गया था। बाद में प्रभुनाथ को न्यायालय ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770

प्रभुनाथ ने उम्रकैद की अपनी सजा को झारखंड उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी। शुक्रवार को एक अहम फैसले में कोर्ट ने प्रभुनाथ सहित उनके भाई दीनानाथ की याचिका खारिज कर दी और दोनों की सजा बरकरार रखने का फैसला सुनाया। हाईकोर्ट ने फिर से दोहराते हुए कहा है कि दोनों के हत्या की साज़िश में शामिल होने के पर्याप्त साक्ष्य हैं। इस कारण दोनों की अपील खारिज की जाती है।

विधायक अशोक सिंह की हत्या 3 जुलाई 1995 को पटना में उनके सरकारी आवास 5 स्टैंड रोड में बम मारकर कर दी गई थी। चुनाव में उन्होंने प्रभुनाथ को ही मात दी थी। बाद में अशोक सिंह की पत्नी चांदनी देवी ने हत्याकांड में प्रभुनाथ सिंह के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इसमें प्रभुनाथ सिंह के अलावा उसके भाई दीनानाथ सिंह और रितेश सिंह को आरोपी बनाया गया था।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।