मोकामा की मिट्टी में खेला पढ़ा ,कश्मीर में दी शहादत

मोकामा CRPF केम्प में रहने वाले कुलदीप उरांव मोकामा इलेवन स्टार फुटबॉल क्लब में फूटबाल खेलते थे .एक अच्छे खिलाडी होने की वजह से उन्होंने मोकामा के स्थानीय खिलाडियों को फुटबॉल सिखाया. उनके नेत्तृव में मोकामा इलेवन स्टार क्लब ने सुनहरा अध्याय लिखा . उनके कश्मीर में शहीद होने की खबर सुनकर उनके साथ खेलने वाले खिलाडी भी सदमे में हैं. उनसे फुटबॉल का ABCD सिखने वाले पवन जी कहते हैं की वः न एक अच्छे फुटबॉल खिलाडी थे बल्कि एक अच्छे इंसान थे .खेल के अलावे भी वो लोगों को सदा प्रोत्साहित करते रहते थे . शहीद कुलदीप उरांव के पिता पिता घनश्याम उरांव मोकामा CRPF में कार्यरत थे .

कश्मीर के श्रीनगर के मालबाग इलाके में गुरुवार की रात सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में साहेबगंज निवासी सीआरपीएफ जवान कुलदीप उरांव शहीद हो गए हैं.शहीद कुलदीप की पत्नी वंदना उरांव कोलकाता पुलिस में कांस्टेबल हैं. उनका बेटा यस 9 साल का है और बेटी वैसी 6 साल की.

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।