Picketed at Ghoswari block office,घोसवारी के आठों पंचायत के लोगों ने प्रखंड कार्यालय पर धरना दिया,

घोसवारी के प्रखंड कार्यालय पर धरना ।

बिहार ।पटना। मोकामा।घोसवरी। (Picketed at Ghoswari block office)पिछले एक महीने से जलजमाव से जूझ रहे मोकामा टाल के घोसवरी प्रखण्ड के आठों पंचायतों को बाढ़ प्रभावित घोषित करने की मांग को लेकर मंगलवार को क्षेत्रवासियों ने धरना दिया। घोसवरी प्रखंड कार्यालय के बाहर सैंकड़ों की संख्या में जुटे प्रखंडवासियों ने धरना प्रदर्शन किया। उन्होंने जिलाधिकारी पटना के नाम से अंचलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा ।

8 पंचायतों को बाढ़ प्रभावित घोषित करने की मांग ।

प्रदर्शनकारियों ने प्रखंड के सभी 8 पंचायतों को बाढ़ प्रभावित घोषित करने और क्षतिपूर्ति राशि देने, सभी पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था, मकान क्षतिपूर्ति के लिए प्रति परिवार 6 हजार रुपए का भुगतान, फसल मुआवजा के तौर पर कृषि इनपुट, बेरोजगारी झेल रहे प्रखंड के किसानों और मजदूरों को एक क्विंटल खाद्यान, क्षतिग्रस्त सड़कों और बांधो की मरम्मत करने सहित कई मांगो का ज्ञापन सौंपा।धरने में शामिल लोगों ने कहा कि बाढ़ प्रभावितों के प्रति राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन का रवैया उपेक्षापूर्ण है। प्रभावित आबादी में त्राहिमाम मचा हुआ है और सरकार व जिला प्रशासन का पूरा महकमा भ्रष्टाचार में लिप्त है। ऐसे लोग बाढ़ आपदा को भी अवैध कमाई के अवसर में बदल दिये है। (Picketed at Ghoswari block office)

Picketed at Ghoswari block office
Picketed at Ghoswari block office

प्रशासनिक मदद नहीं मिलने से लोगों में नाराज़गी ।

प्रशासनिक मदद नहीं मिलने से लोगों में आक्रोश है। मंगलवार को आज एक दिवसीय धरना में लोगों ने बाढ़ प्रभावित रहने के बावजूद प्रखण्ड क्षेत्र को बाढ़ प्रभावित घोषित नहीं किये जाने की आलोचना की।प्रखण्ड कार्यालय के सामने भी जमकर नारेबाजी की जा रही थी । महिलाओं ने कहा कि जबतक प्रखण्ड को बाढ़ग्रस्त क्षेत्र घोषित नहीं किया जाएगा, आंदोलन जारी रहेगा।

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

सात साथियों के शहादत के बाद भी रामकृष्ण सिंह ने सचिवालय पर झंडा फहराया था।

स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

याद किये गये चाकी।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।