पंचतत्व में विलीन हुए रघुवंश बाबू

पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ रघुवंश प्रसाद सिंह की अंतिम यात्रा में नम हुई आंखें।आज सोमवार को वैशाली के हसनपुर घाट पर इनका पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हुआ।रघुवंश बाबू के सबसे छोटे पुत्र शशि शेखर ने मुखाग्नि दी।रघुवंश बाबू के अंतिम संस्कार के समय तेजस्वी यादव सहित कई गणमान्य नेता और अधिकारी भी शामिल हुए।बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी उनके अंतिम दर्शन को आये ।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770,9743484858

दिल्ली में निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को दिल्ली से पटना लाया गया जंहा हजारों की संख्या में लोग उनके अंतिम दर्शन को आये थे।अपनी मृत्यु से महज 3 दिन पहले ही रघुवंश बाबू ने राजद से इस्तीफा दे दिया था।एक ओर राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव उन्हें मनाने में जुटे थे वंही दूसरी ओर उनके बड़े बेटे तेज प्रताप ने रघुवंश बाबू को समंदर में महज एक लोटा पानी भर कह कर उनकी हैसियत बताने की कोशिश की थी।

जंहा जंहा से उनका पार्थिव शरीर गुजरा हजारों लोग नम आंखों से उनके दर्शन के लिए पँक्तिवद्ध रूप से खड़े रहे।रघुवंश बाबू अमर रहे के नारों के साथ लोग उनके ऊपर पुष्पांजलि कर रहे थे।इससे पहले बिहार विधानसभा में भी उन्हें श्रद्धांजलि दी गई थी।उनका शरीर विधानसभा परिषद में लाया गया था जंहा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार,तेजस्वी यादव,राबड़ी देवी,सुशील कुमार मोदी सहित कई अन्य गणमान्य लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!