मोकामा आरपीएफ की सजगता ने माँ से मिलाया बिछड़ा बेटा

मोकामा। आरपीएफ कर्मियों की सजगता के कारण माँ से बिछड़े एक 4 वर्षीय बच्चे को मोकामा स्टेशन पर उसके परिजनों को सौंपा गया। मोकामा आरपीएफ इंस्पेक्टर अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि 6 जुलाई को क्यूल रेलवे स्टेशन पर जमुई जिले के खैरा थाना क्षेत्र के टेकहि गांव की 45 वर्षीय शांति देवी अपने 4 साल के बेटे के साथ दिल्ली जाने वाली ट्रेन में सवार होने आई थी। उसका एस 6 कोच में रिजर्वेशन था। हालांकि आपाधापी में महिला सामान और बच्चे को ट्रेन में चढ़ाई लेकिन ट्रेन खुल जाने के कारण वह चढ़ नहीं पाई।

ट्रेन जब मोकामा रेलवे स्टेशन पहुंची तब सब इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार झा, आरपीएफ मोकामा प्लेटफॉर्म पर थे। उन्होंने एस 6 कोच में एक रोते हुए बच्चे को देखा। ट्रेन में सफर कर रहे सह-यात्रियों ने बताया है कि किऊल स्टेशन पर बच्चे की मां ट्रेन नहीं पकड़ सकी है।

एसआई प्रदीप कुमार झा बच्चे को ट्रेन से नीचे उतारकर आरपीएफ पोस्ट मोकामा ले आए। उन्होंने एसएस किउल के जरिए उसकी मां से बात की। कुछ घन्टे बाद जमुई के खैरा थानांतर्गत के टेकहि डुमरकोला के महिला का एक परिजन कुंदन कुमार मोकामा आए। आवश्यक सत्यापन उपरांत बच्चे को कुंदन कुमार के माध्यम उसकी माँ को सौंपा गया।

अपने खोए पुत्र को सुरक्षित पाकर और कुछ घँटे में ही उससे मिलकर हर्षित शांति देवी ने आरपीएफ अधिकारी एसआई प्रदीप कुमार समेत पूरे मोकामा आरपीएफ को आभार व्यक्त किया।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।