लालू के नाराज लाल तेजप्रताप ने पिता का दूध-गंगाजल से क्यों धोया पांव

लालू के नाराज लाल तेजप्रताप ने पिता का दूध-गंगाजल से क्यों धोया पांव।

पटना। (Mokama Online News 61)राजद में उपेक्षित महसूस करने का परोक्ष आरोप लगा चुके लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने रविवार रात अपने आवास पहुंचने पर पिता का दूध और गंगाजल से पांव पखारा। अब बिहार के राजनीतिक गलियारों में पिता-पुत्र की इस मुलाकात के कई मायने लगाए जा रहे हैं। तेजस्वी यादव के बदले तेजप्रताप से लालू के मिलने से यह भी तय माना जा रहा है कि लालू परिवार में सब कुछ ठीक नहीं है। और ऐसे में पार्टी के अलावा लालू यादव को परिवार को एकजुट रखने की भी चुनौती है।

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

बड़े से बड़ा आदमी भी बेटे की जिद के आगे झुक जाता है।

लालू और उनके लाल की हुई मुलाकात पर वरिष्ठ पत्रकार प्रशांत कहते हैं। बड़े से बड़ा आदमी भी बेटे की जिद के आगे झुक जाता है। पटना लौटने के बाद रविवार आधी रात को राजद सुप्रीमो लालू यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी बेटे तेजप्रताप यादव के घर पहुंचे। तेजप्रताप यादव ने दूध और गंगाजल से पिता के पांव धोए। थोड़ी देर रुकने के बाद लालू-राबड़ी वहां से निकल गए।(Mokama Online News 61)

-विज्ञापन-

Mokama Online News 61

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

तेजप्रताप अपने विरोधियों को करारा जवाब देने में कामयाब रहे।

राजद में अस्तित्व और स्थान की लड़ाई लड़ रहे तेजप्रताप ने कुछ दिन पहले एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि पिता लालू प्रसाद के आने की देर है। सबसे पहले पिता को अपने आवास पर लेकर जाएंगे और सबकी पोल खोलेंगे। स्वास्थ्य पीड़ा के कठिन दौर से गुजर रहे लालू प्रसाद ने दिल्ली से पटना की यात्रा के बाद न तो कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और न ही मीडिया से मुखातिब हुए। सीधे राबड़ी देवी के आवास पर चले गए। अंदरखाने से आई खबर बताती है कि तेजप्रताप की जिद के कारण माता-पिता को आधी रात बाद उनके आवास जाना पड़ा। तेजप्रताप अपने विरोधियों को करारा जवाब देने में कामयाब रहे।(Mokama Online News 61)

पिता की तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें पार्टी में किनारे किया गया।

इसके साथ ही लालू का दूध और गंगाजल से पांव पखार कर तेज ने अपने समर्थकों के साथ ही विरोधियों को भी सन्देश दिया है कि वे मातृ पितृ भक्त हैं। पिता का उनके यहां आना इसका सन्देश है कि पिता की तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें पार्टी में किनारे किया गया है।

दो विधनसभा उपचुनाव में पार्टी के मंच पर क्या दोनों बेटों को एकसाथ ला खड़े करेंगे।

अब देखना महत्वपूर्ण होगा कि लालू यादव अगले कुछ दिन में बिहार में हो रहे दो विधनसभा उपचुनाव में पार्टी के मंच पर क्या दोनों बेटों को एकसाथ ला खड़े करेंगे। अगर ऐसा हुआ तो पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल जरूर बढ़ेगा।

ये भी पढ़ें:-स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

ये भी पढ़ें:-याद किये गये चाकी।

-विज्ञापन-

Mokama Online News 61

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!