चिकित्सिय लापरवाही के कारण मोकामा के रणधीर कुमार की मौत

कोरोना मरीजों को आइसोलेशन सेंटर भेज दिया जाता है, जिसके बाद कोई उनकी सुध लेने की जहमत भी नहीं उठाता है। ताजा मामला सरकार के सबसे बेहतर सुविधाओं वाले होटल पाटलीपुत्र अशोक के आइसोलेशन सेंटर का है, जहां भर्ती एक मरीज की मौत हो गई। लेकिन घंटों तक न तो होटल की तरफ और न सरकार के किसी अधिकारी ने उसको लेकर कोई गंभीरता दिखाई। मरीज के शव के साथ यहां मौजूद दूसरे लोगों को भगवान भरोसे छोड दिया गया। 

घटना के बारे में बताया गया कि मोकामा निवासी रणधीर कुमार को कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद इनकम टैक्स स्थित होटल पाटलीपुत्र अशोक में आइसोलेट किया गया था। जहां पर वह बाथरुम में गिर गए, जिससे उनकी मौत हो गई। जिसके बाद लगभग चार घंटे तक मृतक का शव वैसे ही वहां पडा रहा। शव को हटाने के लिए किसी ने कोई पहल नहीं की और वहां पर भर्ती मरीजों को भगवान भरोसे छोड दिया गया।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।