नीतीश कुमार से मिले ,Ljp के पशुपति पारस,नवादा सांसद चंदन कुमार सहित कई लोजपा नेता,क्या हैं संदेश।

नीतीश कुमार से मिले ,Ljp के पशुपति पारस,नवादा सांसद चंदन कुमार ।

बिहार ।पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे पशुपति कुमार पारस सहित कई Ljp नेता। लोक जनशक्ति पार्टी की टूट के बाद लोजपा दो गुटों में बंट चुकी है। एक गुट का नेतृत्व जमुई से सांसद चिराग पासवान कर रहे हैं जबकि दूसरे गुट का नेतृत्व पशुपति कुमार पारस कर रहे हैं। पशुपति कुमार पारस सहित पांच सांसदों के दल ने लोकसभा के अध्यक्ष से मान्यता देने के लिए आवेदन दिया था। पशुपति कुमार पारस को केंद्र की मोदी सरकार ने खाद्य प्रसंस्करण मंत्री बनाकर एक तरह से मान्यता दे दी थी।

इस मुलाक़ात के कई सियासी मायने निकले जा रहे हैं।

कल पशुपति कुमार पारस,नवादा सांसद चंदन कुमार ,भतीजे सांसद प्रिंस राज और कृष्ण राज भी उनके साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने आए हुए थे। सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पशुपति कुमार पारस इस मुलाकात के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार पशुपति कुमार पारस मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे थे।

LJP के टूट के बाद दोनों गुट अपने अपने दल को मान्यता दिलवाने के लिए लगे हुए हैं ।

ज्ञात हो कि जब लोजपा में टूट हुई थी तो चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह पर लोजपा के टूट का आरोप लगाया था। पशुपति कुमार पारस चिराग पासवान को बिहार की राजनीति से अलग-थलग करने के मकसद से बिहार के मुख्यमंत्री सहित कई बड़े नेताओं से मिल रहे हैं।

नीतीश कुमार ने शुपति कुमार पारस को शॉल देकर उन्हें सम्मानित किया।

कल हुई इस मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस को शॉल देकर उन्हें सम्मानित किया। नवादा से सांसद चंदन कुमार ने इस मुलाकात को महज एक शिष्टाचार मुलाकात बताया है। केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस में बिहार में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग स्थापित करने के लिए पटना में क्षेत्रीय कार्यालय खोलने के लिए जमीन उपलब्ध कराने की मांग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से की है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल्द ही जमीन उपलब्ध कराने की बात कही है।

पशुपति कुमार पारसने अपनी सुरक्षा की मांग की ।

23 अगस्त को जब केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस केंद्र सरकार में मंत्री बनने के बाद पहली बार बिहार आए थे तो उन पर किसी ने स्याही से हमला किया था। उन्हें फोन पर जान से मार देने की धमकी भी दी गई थी। इन दोनों मामलों को मुख्यमंत्री को संज्ञान में देने के बाद इसकी जांच कराने की भी मांग केंद्रीय मंत्री ने की है।

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

मोकामा बाजार में उतरे आधुनिक ठग (Fraud), महिलाओं को बनाते हैं शिकार, आज 2 लाख की ठगी।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।