नहीं रही कपिला वात्सायन

पद्मविभूषण सहित कई प्रतिष्ठित सम्मानों से सम्मानित देश की प्रख्यात कलाविद एवं राज्यसभा की मनोनीत सदस्य कपिला वात्स्यायन का बुधवार को निधन की ख़बर आ रही है। वह 91 वर्ष की थी। वह हिंदी के यशस्वी साहित्यकार सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय की जीवनसाथी भी थीं।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770,9743484858

दिल्ली में 25 दिसंबर 1928 में जन्मी कपिला वात्स्यायन संगीत नृत्य और कला की गहरी विदुषी थी। नाटक, नृत्य, पेंटिंग सहित कई अन्य कलाविधाओं पर आपने महत्वपूर्ण पुस्तकों का लेखन किया है। विश्व कला जगत सदा ही आपका क़र्ज़दार रहेगा, आपको कोटि कोटि प्रणाम!

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।