नीतीश ने कहा, मोकामा टाल से मिली शिक्षा क्षेत्र में काम करने की प्रेरणा

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को डिजिटल सम्बोधन ‘निश्चय संवाद’ में मोकामा टाल से जुड़े संस्मरण को याद किया।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 में उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद से राज्य की शिक्षा स्थिति में बड़ा बदलाव हुआ है। बिहार में शिक्षा क्षेत्र में काम करने के लिए उन्हें मोकामा टाल में प्रेरणा मिली थी। उन्होंने कहा कि मैं टाल के इलाके से सांसद (बाढ़ लोकसभा क्षेत्र से) रहा हूं। 2004 के पहले सांसद रहते हुए जब एक बार मैं मोकामा टाल में घूम रहा था तब एक बच्ची ने मुझसे कहा था कि क्या मैं पढ़ नहीं सकती।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770,9743484858

मुख्यमंत्री ने कहा कि मोकामा टाल में अपनी पढ़ाई की चिंता करने वाले उन बच्चों की आवाज ने मुझे राज्य का मुख्यमंत्री बनने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में काम करने के लिए प्रेरित किया।

2005 में मुख्यमंत्री बनने के बाद मैंने शिक्षा के उन्नयन और सभी बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाने के लिए लगातार काम किया। अब बिहार में शिक्षा दर बढ़ा है। बच्चे और बच्चियां आज सुदूर इलाकों में साइकल से पढ़ाई करने जाते हैं।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।