गंगा की बाढ़ से दियारा में आफत, शरणार्थी बन गए हैं हजारों लोग।

गंगा नदी उफनाई हुई हैं,लगातार बढ़ते जलस्‍तर से लोगों के मन में खौफ उत्‍पन्‍न हो रहा है। गंगा में बाढ़ से जजीरा,कसहा दियारा के लोग बेघर हो गए हैं। जजीरा दियारे के निवासी मोकामा के मलिया घाट महादेव स्थान मंदिर प्रांगण में बने धर्मशाला रहने के लिए अपने परिजनों सहित आए हैं । इनके साथ बच्चे और महिलाएं भी हैं। शाम तक और भी दियारा के लोग गंगा के इस पार आएंगे और यही मंदिर और धर्मशाला में शरण लेंगे। गंगा दियारा के लोग बाढ़ से ज्यादा प्रभावित है। गंगा में बाढ़ का पानी अभी बढ़ता ही जा रहा है ।
तपस्वी स्थान घाट पर भी दियारा के सेकड़ो लोग अपने परिजनों और जानवरों के साथ उतरे और मोकामा प्रखंड कार्यालय का रूख किआ जंहा आपदा की स्तिथि में लोगो के रहने का भी इंतजाम है।
मोकामा प्रखंड का कसहा दियारा पूरी तरह जलमग्न हो चुका है और यहां के निवासी राजेंद्र पुल स्टेशन पर पहुंच गए हैं और यही अपना बसेरा बना रहे हैं। पंचायत के पुरानी कसहा ,नया कसहा , शिवपुर विजयगढ़, सीतापुर ,डुमरा सभी जलमग्न है।लोग इधर उधर ऊँची जगहों पर अपना बसेरा बना रहे हैं।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।