अब शुरू होगा मोकामा से गया गंगाजल ले जाने का काम, आज मुख्यमंत्री लेंगे जायजा

अब शुरू होगा मोकामा से गया गंगाजल ले जाने का काम, आज मुख्यमंत्री लेंगे जायजा

मोकामा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार, 26 अगस्त को मोकामा में गंगा उद्भव योजना के तहत किए जा रहे कार्यों का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शुभारंभ करेंगे। मोकामा से राजगीर होते हुए गया तक गंगा नदी का पानी पहुंचाने का कार्य शुरू किया गया है।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770

मोकामा से गया गंगा नदी का पानी ले जाना नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इससे नालंदा, नवादा, बिहारशरीफ और गया के कई इलाकों में जल संकट का समाधान होगा। साथ ही गया में पितृपक्ष के दौरान फल्गू नदी में पानी की समस्या नहीं आएगी।

जदयू पार्टी सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री अगले सप्ताह मोकामा का दौरा कर सकते हैं। वे अपने दौरे के दौरान इस परियोजना की आधारशिला रख सकते हैं। हालांकि अभी तक उनके दौरे की प्रशासनिक पुष्टि नहीं है।

बाढ़ एसडीओ सुमित कुमार ने बताया कि 26 अगस्त को मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे। वे शाम 4.30 बजे परियोजना सम्बंधित जानकारी लेंगे। इसी सिलसिले में मंगलवार को बाढ़ एसडीओ सुमित कुमार,एएसपी अमरीश राहुल, मोकामा बीडीओ मनोज कुमार, सी ओ राम प्रवेश राम , मोकामा इंस्पेक्टर राजनन्द तथा जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने स्थल का निरीक्षण किया।

योजना के तहत पटना जिले के मोकामा के पास मराची के निकट से गंगा नदी का पानी सरमेरा, बरबीघा होते हुए गिरियक ले जाया जाएगा और वहां से राजगीर के घोड़ाकटोरा झील में पानी को गिराया जाएगा। फिर वहां से पानी को गया जिले के फल्गू नदी तक ले जाया जायेगा। इसके लिए सड़क के किनारे 190 किमी लंबी पाइपलाइन बिछायी जाएगी। परियोजना पर अनुमानित लागत 2800 करोड़ रुपए से ज्यादा है। हालांकि मोकामा इलाके में एक बड़ा वर्ग इस परियोजना का विरोध कर रहा है। स्थानीय लोगों का मानना है कि इससे गंगा में नैसर्गिक प्रवाह में बाधा उत्पन्न होगी। साथ ही इलाके का भूजलस्तर भी कम होगा।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।