बिहार में 22 पुलिस अफसरों पर FIR

बिहार में 22 पुलिस अफसरों पर FIR(FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News)

बिहार।पटना। एसएसपी हरप्रीत कौर द्वारा गया में एकसाथ 22 पुलिस अफसरों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई गई है। ऐसा संभवत: बिहार में पहली बार हुआ है कि एक साथ 22 पुलिस अफसरों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई है। इन अफसरों पर चार्ज नहीं सौंपने का आरोप है। गया के सिविल लाइन थाना में तत्कालीन इंस्पेक्टर हरि ओझा सहित 22 अन्य पुलिस अफसरों के खिलाफ FIR दर्ज करवाई गई है।(FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News
विज्ञापन

संभवत: बिहार में पहली बार हुआ है कि एक साथ 22 पुलिस अफसरों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई है। (Mokama Online)

SSP हरप्रीत कौर ने अपने ही विभाग के 22 पुलिस अधिकारियों पर आरोप लगाया है और उनके खिलाफ सिविल लाइंस थाने में केस दर्ज करवाया है। इन पुलिस पदाधिकारियों में इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर और सहायक अवर निरीक्षक जैसे रैंक के पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।(FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News)

FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News
विज्ञापन

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

SSP हरप्रीत कौर ने अपने ही विभाग के 22 पुलिस अधिकारियों पर आरोप लगाया है और उनके खिलाफ सिविल लाइंस थाने में केस दर्ज करवाया है।(Mokama Online)

गया के इन पुलिस अधिकारियों पर आरोप लगाया गया है, कि इनलोगों ने पिछले वर्षों में दर्ज हुए 185 प्राथमिकियों की जांच से संबंधित फाइल को लेकर अपने साथ चले गये हैं और उसे अभी तक सिविल लाइंस थाने को नहीं लौटाया है।फाइल नहीं लौटने के इस मामले को एसएसपी ने गंभीरता से लिया है। SSP हरप्रीत कौर ने फाइल नहीं लौटने वाले 22 पुलिस अधिकारियों पर FIR दर्ज करने का निर्देश दिया है।(FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News)

FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News
विज्ञापन

SSP हरप्रीत कौर ने फाइल नहीं लौटने वाले 22 पुलिस अधिकारियों पर FIR दर्ज करने का निर्देश दिया है। (Mokama Online)

फाइल व प्रभार नहीं देने को लेकर 22 पुलिस पदाधिकारियों को पहले ही पुलिस मुख्यालय से कई बार निर्देश दिया गया था। उन्हें यह निर्देश था कि ट्रांसफर होते ही संबंधित केस का प्रभार संबंधित थाने के पुलिस पदाधिकारियों को सौंप दें, ताकि उसके आगे के अनुसंधान में कोई व्यवधान नहीं हो सके। वरीय पदाधिकारी को छानबीन के दौरान पता चला कि सिविल लाइंस थाने में इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर व सहायक अवर निरीक्षक के पद पर रह चुके 22 पुलिस पदाधिकारियों ने सैकड़ों केसों का प्रभार अभी तक दिया ही नहीं है।(FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News)

FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News
विज्ञापन

फाइल व प्रभार नहीं देने को लेकर 22 पुलिस पदाधिकारियों को पहले ही पुलिस मुख्यालय से कई बार निर्देश दिया गया था। (Mokama Online)

इंस्पेक्टर हरि ओझा ने 17 केस, सब इंस्पेक्टर रंजन कुमार ने 21 केस, सब इंस्पेक्टर रामकृष्ण बैठा ने सात, सब इंस्पेक्टर विजय पासवान ने 14, सब इंस्पेक्टर मानमती सिन्हा ने 15, सब इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार टू ने नौ, सब इंस्पेक्टर अखिलेश सिंह ने छह, सब इंस्पेक्टर प्रसिद्ध कुमार सिंह ने सात, सब इंस्पेक्टर दुर्गेश गहलौत ने चार केसों के फाइल अबतक जमा नहीं किए हैं<(FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News)

FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News
विज्ञापन

छानबीन के दौरान पता चला कि सिविल लाइंस थाने में इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर व सहायक अवर निरीक्षक के पद पर रह चुके 22 पुलिस पदाधिकारियों ने सैकड़ों केसों का प्रभार अभी तक दिया ही नहीं है। (Mokama Online)

इसी तर्ज पर सब इंस्पेक्टर विनय कुमार राय ने 15, सब इंस्पेक्टर परमहंस सिंह ने 10, सब इंस्पेक्टर लालमुनी दूबे ने चार, सब इंस्पेक्टर दिलीप कुमार सिंह ने पांच, सब इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने पांच, सब इंस्पेक्टर दिलेश्वर महतो ने सात, सब इंस्पेक्टर अशोक चौधरी ने पांच, सब इंस्पेक्टर गौरव सिंधु ने छह व सब इंस्पेक्टर अखिलेश्वर शर्मा ने चार केसों का प्रभार नहीं सौंपा है। सहायक अवर निरीक्षक अवधेश सिंह ने छह, सहायक अवर निरीक्षक किशोर कुमार झा ने 17 व सहायक अवर निरीक्षक प्रदीप पासवान ने चार केसों को प्रभार अबतक नहीं सौंपा है।(FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News)

FIR against 22 police officers in Bihar Gaya News
विज्ञापन

मोकामा और आस पास के इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-नए थानाध्यक्ष को दिया 50 रुपये घूस कहा हम तो 50 रुपये ही देते हैं साहब।

ये भी पढ़ें:-मोकामा में पदस्थापित क्लर्क को DM ने दी जबरिया रिटायरमेंट की सजा

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!