मोकामा को राष्ट्रकवि दिनकर के विरासत के संरक्षण की फिक्र नहीं, खंडहर बन रहा मोकामा घाट स्कूल

खंडहर बन रहा दिनकर का मोकामा घाट स्कूल।

(Dinkar School Condition )मोकामा को राष्ट्रकवि दिनकर के विरासत के संरक्षण की फिक्र नहीं, खंडहर बन रहा मोकामा घाट स्कूल

दिनकर का वह ज्ञानशाला आज खंडहर ।

मोकामा।(Dinkar School Condition ) जिस माटी ने देश को राष्ट्रकवि देने की इबारत लिखी और जिस मोकामा में पहले पहल रामधारी सिंह ने कविता लिखकर भविष्य के दिनकर की झलक दिखाई मोकामा घाट स्थित दिनकर का वह ज्ञानशाला आज खंडहर बनते जा रहा है। 16 जनवरी 1924 को रामधारी सिंह का जेम्स वॉकर हाई इंग्लिश स्कूल मोकामा घाट में 9वीं कक्षा में दाखिला हुआ। राय साहब रामशरण सिंह द्वारा स्थापित और 10 अगस्त 1910 से संचालित मोकामा घाट का यह हाई स्कूल उस दौर के सर्वाधिक प्रतिष्ठित विद्यालयों में एक था। यहां ज्यादातर अंग्रेजों के बच्चे पढ़ते थे। कठिन प्रवेश परीक्षा के उपरांत गिने चुने मेधावी भारतीय छात्रों का दाखिला होता था। बालक रामधारी ने इस विद्यालय से वर्ष 1928 में मैट्रिक पास की।

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

छत से झड़ते प्लास्टर और जहां तहां कचरे का अंबार उपेक्षा की पूरी कहानी बयां।

(Dinkar School Condition )हालांकि दिनकर जिस विद्यालय में पढ़े आज मोकामा घाट का वह परिसर खंडहर बनता जा रहा। जिसे विरासतीय भवन के तौर पर संरक्षित करने की जरूरत थी उसकी दीवारों में सीलन, छत से झड़ते प्लास्टर और जहां तहां कचरे का अंबार उपेक्षा की पूरी कहानी बयां कर रहा है। 111 साल पुरानी इमारत आज भी मजबूती के साथ टिकी हुई है और यहीं से पठन पाठन का कार्य होता है। बावजूद इसके इसकी महत्ता समझने की कोई पहल नहीं हो रही। विद्यालय प्रबंधन का कहना है कि ऐतिहासिक इमारत के रखरखाव को सुदृढ करने के लिए कई बार उच्च अधिकारियों को पत्र लिखा गया पर दिनकर की ज्ञान भूमि उपेक्षा का दंश झेल रही है।(Dinkar School Condition )

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

सात साथियों के शहादत के बाद भी रामकृष्ण सिंह ने सचिवालय पर झंडा फहराया था।

स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

याद किये गये चाकी।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।