दिनकर के आग्रह पर 1956 में मोकामा के पंडारक आए पृथ्वीराज कपूर

दिनकर के आग्रह पर पंडारक आए पृथ्वीराज कपूर।

मोकामा। (Dinakar Shammi Kapur )राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर का मोकामा क्षेत्र से गहरा जुड़ाव रहा। वे इस क्षेत्र की विशिष्टताओं का हर जगह वर्णन करते। हो भी क्यों न बालक रामधारी ने मोकामा से पढ़ाई जो की थी। 16 जनवरी 1924 को रामधारी सिंह का जेम्स वॉकर हाई इंग्लिश स्कूल मोकामा घाट में 9वीं कक्षा में दाखिला हुआ। राय साहब रामशरण सिंह द्वारा स्थापित और 10 अगस्त 1910 से संचालित मोकामा घाट का यह हाई स्कूल उस दौर के सर्वाधिक प्रतिष्ठित विद्यालयों में एक था। यहां ज्यादातर अंग्रेजों के बच्चे पढ़ते थे। कठिन प्रवेश परीक्षा के उपरांत गिने चुने मेधावी भारतीय छात्रों का दाखिला होता था।

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

उनकी रचनाएँ हों या इस क्षेत्र के विकास की बात हर जगह वे मुखरता से यहां की बात करते।

(Dinakar Shammi Kapur )स्कूली काल में इस इलाके से दिनकर का जो संबंध बना वह ताउम्र बना रहा। वे इस क्षेत्र की विशेषताओं और उस दौर में यहां के सांस्कृतिक, शैक्षणिक एवं सशक्त सामाजिक स्वरूप की चर्चा हर मंच पर करते । चाहे उनकी रचनाएँ हों या इस क्षेत्र के विकास की बात हर जगह वे मुखरता से यहां की बात करते।

Dinakar Shammi Kapur
Dinakar Shammi Kapur

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

29 अगस्त 1956 को पृथ्वीराज कपूर, शम्मी कपूर और शशि कपूर दिनकर के विशेष आग्रह पर पंडारक आए।

इसी क्रम में 29 अगस्त 1956 को पृथ्वीराज कपूर, शम्मी कपूर और शशि कपूर दिनकर के विशेष आग्रह पर पंडारक आए। दिनकर का पंडारक के रंगकर्मियों से खासा लगाव था। वे चाहते थे कि यहां के रंगमंच के बारे में पृथ्वीराज कपूर भी जाने जो उन दिनों पूरे देश में घूमघूम कर रंगमंच सजाते थे। 1956 में जब पृथ्वीराज कपूर अपने दोनों बेटों शम्मी और शशि के साथ पटना आए हुए थे तब अपने मित्र दिनकर के आग्रह पर वे पंडारक आए। पंडारक हिंदी नाटक समाज के संस्थापक चौधरी रामप्रसाद शर्मा द्वारा पृथ्वीराज कपूर को विशेष नाटक का मंचन दिखाया गया था।(Dinakar Shammi Kapur )

सात साथियों के शहादत के बाद भी रामकृष्ण सिंह ने सचिवालय पर झंडा फहराया था।

स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

याद किये गये चाकी।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।