बाहुबली नेता ददन पहलवान की 68 लाख की संपत्ति जप्त।

ददन पहलवान की 68 लाख की संपत्ति जप्त।

बिहार ।पटना।(Dadan pahalvan ED Chhapa) राबड़ी देवी सरकार में मंत्री रह चुके ददन पहलवान की 68 लाख रुपए की संपत्ति जप्त करने की खबर आ रही है। प्रवर्तन निदेशालय ईडी के द्वारा कार्यवाई की गई है। बिहार और उत्तर प्रदेश में ददन पहलवान का अपराधिक इतिहास रहा है। जप्त की गई संपत्ति में इनकी चल और अचल दोनों तरह की संपत्ति शामिल है।

राबड़ी देवी सरकार में ददन पहलवान मंत्री रह चुके हैं।

ज्ञात हो कि राबड़ी देवी सरकार में ददन पहलवान मंत्री रह चुके हैं। बाद में वह नीतीश कुमार के साथ आ गए और जदयू में शामिल हो गए। ददन पहलवान को पिछले साल ही पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने के कारण जदयू से निकाल दिया गया था।

बक्सर के डुमराव विधानसभा क्षेत्र से जीतकर आते रहे हैं।

ददन पहलवान बक्सर के डुमराव विधानसभा क्षेत्र से जीतकर आते रहे हैं। उत्तर प्रदेश और बिहार की पुलिस द्वारा ददन पहलवान के खिलाफ पांच केस दर्ज होने के बाद प्रवर्तन निदेशालय ईडी ने मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज कर ₹68 लाख की चल अचल संपत्ति जप्त की है।(Dadan pahalvan ED Chhapa)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

ददन पहलवान का एक आपराधिक इतिहास है ।

प्रवर्तन निदेशालय ईडी के अधिकारियों ने बताया कि बाहुबली नेता ददन पहलवान का एक आपराधिक इतिहास है ।उन पर अवैध हथियार रखने ,हत्या और हत्या के प्रयास, आपराधिक साजिश ,धोखाधड़ी, संपत्ति हड़पने जैसे कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

ददन पहलवान पहले राजद में थे।

ईडी द्वारा की गई कार्रवाई में ददन पहलवान , उनकी पत्नी उषा देवी, बेटा करतार सिंह यादव भी आरोपी है। ददन पहलवान ने ईडी को बताया कि यह सब पैसा उन्होंने कारोबार के द्वारा कमाया है। जबकि ईडी के अधिकारियों ने बताया ददन पहलवान और उनके परिवार की तरफ से कोई भी कारोबार या कंपनी चलाए जाने की पुष्टि नहीं हुई है।(Dadan pahalvan ED Chhapa)

Dadan pahalvan ED Chhapa
Dadan pahalvan ED Chhapa

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

जदयू ने उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के वजह से बाहर निकाल दिया था।

आपराधिक पृष्ठभूमि वाले ददन पहलवान पहले राजद में थे और राबड़ी देवी सरकार में मंत्री भी बने। बाद में वह नीतीश कुमार के नेतृत्व में जदयू में शामिल हो गए थे। पिछले साल ही जदयू ने उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के वजह से बाहर निकाल दिया था।

सात साथियों के शहादत के बाद भी रामकृष्ण सिंह ने सचिवालय पर झंडा फहराया था।

स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

याद किये गये चाकी।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।