मुख्यमंत्री ने 10 जिलों के 20 क्वारंटाइन केन्द्रों का किया डिजिटल निरीक्षण

मुख्यमंत्री ने 10 जिलों के 20 क्वारंटाइन केन्द्रों का किया डिजिटल निरीक्षण, रह रहे प्रवासियों से किया संवाद
 मुख्यमंत्री ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न क्वारंटाइन केन्द्रों
का किया अवलोकन एवं निरीक्षण। केन्द्र में रह रहे प्रवासियों से रूबरू
हुये मुख्यमंत्री। क्वारंटाइन केन्द्रों पर दी जा रही सुविधाओं की ली जानकारी। डिजिटल माध्यम से पूरे क्वारंटाइन केन्द्र का किया मुआयना।
 क्वारंटाइन केन्द्रों में शौचालय, पेयजल, रसोई घर, लोगों के रहने की
व्यवस्था एवं केन्द्रों की साफ-सफाई का मुख्यमंत्री ने बारीकी से किया
अवलोकन।
 क्वारंटाइन केन्द्रों में रह रहे लोगों से मुख्यमंत्री ने की अपील- सभी को क्वारंटाइन में रहना जरूरी। यही सभी लोगों के हित में है। सभी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का करें पालन। कोरोना से बचाव का यही है प्रभावी उपाय।
 मुख्यमंत्री का निर्देश- सभी को बिहार में ही दिया जायेगा काम।
इच्छुक लोगों के बनायें जाॅब कार्ड। सभी को उनके स्किल के अनुरूप
उपलब्ध करायें रोजगार। श्रमिकों के स्किल के अनुरूप नये उद्योगों को
दें बढ़ावा। पेवर ब्लाॅक उद्योग की बिहार में हैं असीम संभावनायें।
जल-जीवन-हरियाली, हर घर पक्की गली-नाली एवं अन्य योजनांतर्गत किये जा रहे कार्यों में पेवर ब्लाॅक का करे इस्तेमाल।
जीविका से भी जोड़ कर महिलाओं को दिलायें रोजगार।
 मुख्यमंत्री ने प्रवासियों से कहा कि बिहार में ही रहिये। अपने श्रमबल
एवं स्किल का यहीं उपयोग कीजिये। आप सभी लोग बिहार के
विकास में भागीदार बनें।
 क्वारंटाइन केन्द्रों में रह रहे प्रवासियों ने मुख्यमंत्री के निर्देश पर की गयी व्यवस्थाओं को सराहा। सभी ने कहा कि उन्हें किसी प्रकार की
कोई दिक्कत नहीं है और वे लोग अब बिहार में ही रह कर काम करना चाहते हैं।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।