नाव पर चढ़ कर आएँगी माँ दुर्गा,जानिए किस दिन किनकी पूजा होगी

0

25 मार्च बुधवार के दिन नवरात्रि आरम्भ हो जाएगी । इस दिन से व्रत रखने वाले लोग शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना करेंगे और मां शैलपुत्री की पूजा करेंगे .

26 मार्च को नवरात्रि का दूसरा दिन होगा ,भक्त नवरात्रि के इस दिन माता ब्रह्मचारिणी की पूजा करेंगे .

27 मार्च शुक्रवार नवरात्रि का तीसरा दिन होगा इस दिन मां दुर्गा के गौरी स्वरूप की पूजा की जाती है .

28 मार्च शनिवार का दिन वेहद महत्वपूर्ण है,नवरात्रि के चौथे इस दिन मां दुर्गा के कुष्मांडा स्वरूप की पूजा होती है.

-विज्ञापन-

राम इलेक्ट्रिक मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770

29 मार्च रविवार को नवरात्रि का पाचवां दिन है इस दिन माँ दुर्गा स्वरूप स्कंदमाता की पूजा विधि विधान से की जाती है .

30 मार्च सोमवार को नवरात्रि का छठा दिन है, इस दिन माँ दुर्गा स्वरूप कात्यायनी माता की पूजा की जाती है ,इस दिन से अन्य लोग भी व्रत करना शुरू कर देते हैं .

31 मार्च मंगलवार का दिन वेहद ही शुभ दिन है ,एक तो नवरात्रि उपर से मंगलवार और नवरात्रि की महा सप्तमी . महा सप्तमी के दिन माता कालरात्रि का पूजा की जाती है.भारत के सभी श्रद्धालु इस दिन उपवास के साथ विधि विधान के साथ पूजा करते हैं.इस दिन पूजा करने से माँ दुर्गा अपने भक्तों को सभी कष्टो से उबारती है.

01 अप्रैल दिन बुधवार को महाअष्टमी है .इस दिन भक्त माँ दुर्गा स्वरूप महागौरी की पूजा की जाती है .भक्त माता के दर्शन के लिए मन्दिर पहुचते हैं और विधि विधान से माँ की पूजा करते हैं .

-विज्ञापन-

माँ शारदे स्टेशनरी मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770

02 अप्रैल दिन गुरूवार को महानवमी है, इस दिन मां दुर्गा स्वरूप सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है. चैत्र शुक्ल नवमी के दिन ही मर्यादा पुरुषोतम श्रीराम जी का जन्म हुआ था .इस दिन रामनवमी मनाई जाती है .लोग अपने अपने घरों में हनुमान जी के नाम से ध्वजारोहण करवाते हैं.

03 अप्रैल शुक्रवार को नवरात्रि का आखिरी दिन है इस दिन पूजा,हवन करने के बाद पारण किया जाता है.। ब्राह्मण और गरीबों को दान करने की परम्परा है.इन्हें अनाज,द्रव और वस्त्र देकर इनसे आशीर्वाद ली जाती है. इसके व्रत करने वाले सभी भक्तों को भोजन ग्रहण कर पूजा सम्पन्न करना होता है.

मोकामा ऑनलाइन के सभी पाठकों को चैत्र नवरात्रि की हार्धिक शुभकामना, माँ दुर्गा आप सभी पाठकों के दुःख दूर करें ,आप सभी के जीवन में खुशियाँ ही खुशियाँ हो.

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।