पुलवामा शहीदों की याद में मोकामा में निकला कैंडल मार्च सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पर जलाई गई मोमबत्तियां

पुलवामा शहीदों की याद में मोकामा में निकला कैंडल मार्च
सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पर जलाई गई मोमबत्तियां
जनसम्मान से बढ़ता है जवानों का मनोबल : अनुराग भारत
मोकामा। पुलवामा शहीदों को स्मरण करते हुए मोकामा में रविवार को कैंडल मार्च निकाला गया। औंटा ग्राम से शुरू हुए कैंडल मार्च में सैकड़ों युवाओं और स्थानीय लोग शामिल हुए। देशभक्ति गीतों और नारों से गुंजायमान कैंडल मार्च करीब दो किलोमीटर चला और मोकामाघाट सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पर सभी ने मोमबत्ती समर्पित कर राष्ट्र रक्षा में सर्वश्रेष्ठ बलिदान देने वाले वीर जवानों को श्रद्धांजलि दी।
डीआईजी सुनीत कुमार राय के नेतृत्व में ग्रुप सेंटर में शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। सीआरपीएफ के असिस्टेंट कमांडेंट अनुराग भारत ने कैंडल मार्च की सराहना करते हुए कहा कि देश के नागरिकों का सैन्य जवानों के प्रति इस प्रकार का सम्मान सीआरपीएफ का मनोबल बढ़ाता है। उन्होंने कहा कि यह दिखाता है कि समाज अपने जवानों को याद करता है और यही जनप्रेम हम जवानों को राष्ट्र रक्षा के लिए प्रेरित करता है। जब कभी देश की आन बान शान के खिलाफ आतंकी संगठन या कोई दुश्मन आंख दिखता है तो जवान अपने जान की बाजी लगाकर देश की रक्षा में सर्वश्रेष्ठ सेवा देते हैं।
शहीद रौशन और सुनील कुमार को किया याद
2019 में पुलवामा हमले के एक दिन पहले गया में एक आईडी धमाके में शहीद हुए मोकामा के रौशन कुमार के बलिदान को लोगों ने याद किया। अनुराग भारत ने मोकामा से जुड़े उनके संस्मरणों को याद किया। वहीं मोकामा तेराहा स्थित शहीद सीआरपीएफ जवान सुनील कुमार की प्रतिमा के समक्ष मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि दी गई।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।