बिहार इंटरमीडिएट बोर्ड का रिजल्ट घोषित, यहां जानिए परिणाम

पटना। कोरोना के आतंक के बीच बिहार परीक्षा बोर्ड ने इंटरमीडिएट रिजल्ट घोषित कर नया कीर्तिमान बनाने का दावा किया है।
मंगलवार यानी 24 मार्च को बिहार बोर्ड ने इंटरमीडिएट वार्षिक 2020 परीक्षा के तीनों संकाय का रिजल्ट जारी कर दिया है। बिहार बोर्ड का दावा है कि 40 दिनों में रिजल्ट जारी करके उसने नया कीर्तिमान बनाया है। इस बार कॉमर्स, साइंस, आर्ट्स स्ट्रीम में कुल मिलाकर 80.44 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए हैं, जबकि पिछले साल 79.76 प्रतिशत पास हुए थे।

-विज्ञापन-

इनाया बैग सेंटर,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770

इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्ष में कुल 12,04,834 विद्यार्थी शामिल हुए थे, जिसमें से  6,56,301 छात्र तथा 5,48,533 छात्राएं थीं। परीक्षा का आयोजन राज्य के 1283 केंद्रो पर किया गया था। साइंस संकाय में नेहा कुमारी ने कुल 476 अंक (95.2 फीसदी) के टॉप किया है। कॉमर्स स्ट्रीम में कौसर फातिमा तथा सुधांशु नारायण चौधरी ने कुल 476 अंक (95.2 फीसदी) प्राप्त कर टॉप किया है। आर्ट्स में सक्ष्य कुमारी ने 474 अंक (94.80 फीसदी) प्राप्त कर टॉप किया है।

इस साल बिहार में इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 3 से 13 फरवरी के बीच हुई थीं। इतने कम समय में रिजल्ट जारी करना इसलिए भी खास है क्योंकि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से कई राज्य बोर्डों ने कॉपी मूल्यांकन का काम स्थगित किया हुआ है। सीबीएसई को तो बीच में ही 10वीं और 12 वीं की परीक्षा स्थगित करनी पड़ी।

-विज्ञापन-

लिबर्टी टेलर, मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9990436770

पिछले साल बिहार बोर्ड के इंटरमीडिएट की वार्षिक परीक्षाएं 6 फरवरी से शुरू हुई थीं और परिणाम 30 मार्च को जारी हुए थे। बोर्ड का दावा है कि उसने पूरी प्रक्रिया में पिछले साल की तुलना में तीन दिन कम समय लिया है। बोर्ड की ओर से जारी बयान में कहा गय है कि समिति ने लगातार दूसरे साल मार्च में रिजल्ट जारी करके पूरे देश में कीर्तिमान बनाया है। बिहार बोर्ड ने कहा कि यह सब संभव हुआ है कि तकनीक की मदद से। 

इस बार परिणाम तैयार करने के लिए बोर्ड ने एक नया सॉफ्टवेयर तैयार किया था, जिसके रिजल्ट प्रॉसेस करने की गति पिछले सॉफ्टवेयर की तुलना में 16 गुना अधिक है।

परीक्षा परिणाम जानने के लिए वेबसाइट http://onlinebseb.in , biharboardonline.bihar.gov.in पर जाएं।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।