बाबरी विध्वंस मामले में सभी आडवाणी सहित आरोपी दोषमुक्त

बाबरी विध्वंस मामले में सभी आडवाणी सहित आरोपी दोषमुक्त

नई दिल्ली। अयोध्या में बाबरी ढांचा गिराने के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत में मंगलवार को इस मामले में आरोपी लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, कल्याण सिंह सहित तमाम आरोपियों को बरी कर दिया।

कोर्ट ने माना बाबरी विध्वंस की घटना कोई पूर्व नियोजित षड्यंत्र नहीं था बल्कि यह उस समय भीड़ के वीर के रोष के कारण ढांचा गिराया गया था। वर्ष 1992 में 6 दिसंबर को अयोध्या में कारसेवकों की भारी भीड़ ने बाबरी ढांचे को गिरा दिया था। इस घटना के बाद पूरे देश में सांप्रदायिक तनाव फैल गया था।

हालांकि लंबी कानूनी कार्रवाई के बाद पिछले वर्ष कोर्ट ने उस विवादित भूमि को राम मंदिर निर्माण के लिए रामलला को सौंप दिया। इसी वर्ष अगस्त महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का विधान किया था।

अब कोर्ट से बाबरी विध्वंस मामले में सभी आरोपियों को आरोप मुक्त किए जाने से पिछले कई वर्षों से चला आ रहा विवाद समाप्त हो गया है। भाजपा को भी इस निर्णय से बड़ी राहत मिली है।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।