आईआईटी मद्रास से बेस्ट थीसिस अवार्ड लेकर अविनाश ने बढ़ाया मोकामा का मान

मोकामा। आईआईटी मद्रास से बेस्ट थीसिस का अवार्ड हासिल कर मोकामा के अविनाश अब युवाओं के रोल मॉडल बने हैं। बेस्ट पीएचडी अवार्ड हासिल करने के लिए अविनाश को पिछले दिनों प्रोफेसर राममूर्ति अवार्ड दिया गया।

डॉक्टरेट उपाधि हासिल करने के बाद अब आगे की पढ़ाई के लिए अविनाश की विदेश जाने की योजना है। बचपन से ही मेधावी अविनाश की शुरुआती शिक्षा मोकामा के चिन्तामनीचक स्थित प्राथमिक विद्यालय से हुई। बाद में उन्होंने धनबाद के एक प्रतिष्ठित विद्यालय से हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी की और दिल्ली विश्वविद्यालय से रसायन शास्त्र में बीएससी के बाद नागपुर से एमसीए किया। अब उन्होंने आईआईटी मद्रास से पीएचडी की उपाधि हासिल की है।

हालांकि अकादमिक सफलता में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले अविनाश ने कई चुनौतियों को झेलते हुए यह मुकाम हासिल किया है। अल्पायु में ही उनके पिता राजकिशोर प्रसाद सिंह का देहावसान हो गया था। स्व. राजकिशोर प्रसाद सिंह एवं मीना देवी के पुत्र अविनाश ने विभिन्न चुनौतियों को बौना साबित कर अपनी एक विशिष्ट पहचान कायम की है।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।