घोसवरी की महिला बीडीओ पर हुआ जानलेवा हमला, जानिए क्या है हमले का कारण, कितने हुए गिरफ्तार

मोकामा। पैक्स अध्यक्ष नामांकन में स्क्रूटनी के दौरान पर्चा खारिज होने से शुरू हुए विवाद में घोसवरी प्रखंड की प्रखंड विकास पदाधिकारी कामिनी देवी पर जानलेवा हमला हुआ है। गुरुवार शाम घोसवरी प्रखंड कार्यालय के बाहर ही असामाजिक तत्वों ने कामिनी देवी पर हमला बोल दिया। हमले में बीडीओ के सिर में चोट आई है और उनका उपचार घोसवरी पीएचसी में चल रहा है।

बाढ़ के एएसपी अम्बरीश राहुल ने घोसवरी पहुंचकर हमले का शिकार हुई बीडीओ का कुशल क्षेम पूछा। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कुर्मीचक पंचायत के बमबम यादव ने पैक्स अध्यक्ष के लिए नामांकन किया था। गुरुवार को हुए स्क्रूटनी में बमबम यादव का पर्चा खारिज कर दिया गया। इसे लेकर बमबम यादव ने आपत्ति जताई। बीडीओ कामिनी देवी का कहना था कि बमबम के नामंकन पर्चे में कुछ दस्तावेज नहीं थे जिस कारण उसका पर्चा खारिज हो गया।

पर्चा खारिज होने से गुस्साए बमबम यादव ने बीडीओ पर धांधली का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। शाम करीब साढ़े छह बजे जब बीडीओ अपने कार्यकाल परिसर से बाहर निकल रही थी तभी बमबम यादव ने करीब 9 से 10 लोगों के साथ बीडीओ पर हमला कर दिया। यहां तक कि बीडीओ को बचाने आये अन्य कर्मियों पर भी हमला किया गया जिसमें कुछ लोगों को मामूली चोटें आईं। बीडीओ के निजी चालक सुनील कुमार सहित अन्य लोगों ने किसी तरह बीडीओ कामिनी देवी को हमलावरों के चंगुल से छुड़ाया। हमलावरों ने बीडीओ की गाड़ी के शीशे भी तोड़ दिए।

साथ ही मनोज यादव नाम के एक हमलावर को पकड़ लिया गया। पुलिस के अनुसार मनोज यादव कुर्मीचक पंचायत का सरपंच है और बमबम यादव उसी के समर्थन से चुनाव लड़ रहा था। घोसवरी पुलिस ने मनोज यादव को पकड़ा है जबकि एएसपी अम्बरीश राहुल के नेतृत्व में पुलिस टीम कुर्मीचक गांव में छापेमारी कर रही है।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।