जानिए अशोक धाम में क्यों नहीं लगेगा श्रावणी मेला

बिहार।पटना।मोकामा।लखीसराय। भक्त हों या भगवान कोई नहीं समय के सामने बलवान। कुछ यही चरितार्थ हो रहा है अदृष्य वायरस कोरोना के समक्ष। इंसान की क्या बिसात भगवान भी इस कहर से भक्तों को बचाने का एक ही तरीका बता रहे हैं – सोशल डिस्टेंस। यानी अगर कोरोना संक्रमण से बचना है तो भीड़ भाड़ से अलग रहे। इसी के मद्देनजर भगवान शिव के अनुयायियों का बिहार का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल अशोक धाम इस वर्ष श्रावण मास में श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेगा। शिव भक्त न तो अशोक धाम मंदिर जा सकेंगे और ना ही देवाधिदेव महादेव को जलाभिषेक कर सकते हैं। लखीसराय जिला प्रशासन ने 24 जुलाई को इस सम्बंध में आदेश जारी किया है। जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह के अनुसार 25 जुलाई से 22 अगस्त तक श्रावण महीना चलेगा। आम तौर पर सावन में लखीसराय जिला स्थित अशोक धाम मंदिर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ से पटा रहता है। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए राज्य सरकार के दिशा निर्देश के आलोक में लखीसराय जिला प्रशासन ने सावन में अशोक धाम मंदिर बंद रखने का निर्णय लिया है।

-विज्ञापन-

Mokama ,मोकामा

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 79821 24182

श्रद्धालुओं को विशेष अनुरोध किया गया है कि वे बेवजह लंबी यात्रा करके अशोक धाम न आएं क्योंकि मंदिर बंद रहेगा और आम श्रद्धालुओं को पूजा की अनुमति नहीं होगी।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।