आत्मनिर्भर बनने के लिए मोकामा के युवा ने लिया मशरूम उत्पादन का प्रशिक्षण।

कृषि विज्ञान केंद्र अगवानपुर के कृषि वैज्ञानिक डॉ ब्रजेश पटेल के द्वारा मोकामा के 40 युवाओं को मशरूम उत्पादन का प्रशिक्षण दिया गया।तीन दिवसीय इस प्रशिक्षण का उद्घाटन बाढ़ एस. डी. एम सुमीत कुमार ने किया था। प्रशिक्षुओं को संबोधित करते हुए डॉ ब्रजेश पटेल ने सभी से कहा कि कृषि विज्ञान केंद्र अगवानपुर युवाओं के स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण आयोजित कर रही है।स्वरोजगार का बहुत ही उत्तम माध्यम मशरूम उत्पादन भी है। युवा मशरूम उत्पादन से कम लागत में अच्छी आमदनी प्राप्त कर सकते है। कार्यक्रम में वरीय वैज्ञानिक डॉ. कुमारी शारदा ने प्रशिक्षुओं का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि कृषि विज्ञान केंद्र के द्वारा पूरे वर्ष मशरूम की खेती की जा सके इसके तरीके इजाद किए गए हैं। जिसे अपनाकर जरूरतमंद युवक अपनी जीविका को घर पर ही सुदृढ़ कर सकते हैं। वहीं कृषि विज्ञान केंद्र के अन्य वैज्ञानिक डॉ विष्णुदेव सिंह ने प्रशिक्षुओं को मशरूम के विभिन्न किस्में एवं उत्पादन के गुड़ सिखाए,साथ ही साथ उन्होंने समूह बनाकर इसकी खेती के लाभ बताए। 3 दिन के प्रशिक्षण के बाद सभी प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण प्रमाण पत्र दिया गया।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।