शराब तस्करों पर मोकामा आरपीएफ कस रही नकेल, 640 बोतल जब्त, 9 गिरफ्तार

मोकामा। शराब तस्करों के लिए ट्रेनें ऐशगाह बनती जा रही हैं। स्थिति ऐसी है कि लगभग हर दिन किसी न किसी रेल रूट पर पुलिस ट्रेन से शराब बरामद करती है। और इससे पटना-मोकामा- क्यूल -हावड़ा रेलखंड भी अछूता नहीं है।

शराब तस्करों की धड़पकड़ के लिए आरपीएफ भी लगातार सक्रिय है। इसी क्रम में शनिवार तड़के आरपीएफ ने दो भिन्न ट्रेनों से 640 बोतल शराब जब्त की। इसमें मोकामा स्टेशन पर शराब की 115 बोतलों के साथ 3 तस्करों को गिरफ्तार किया गया। वहीं मोकामा आरपीएफ इंस्पेक्टर अरविंद कुमार सिंह के नेतृत्व में दुरंतो एक्सप्रेस में चलती ट्रेन को क्यूल से पटना के बीच खंगाला गया और 6 तस्करों को गिरफ्तार कर 525 बोतल शराब जब्त की गई।

अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि ट्रेन संख्या 02213 दुरंतो एक्सप्रेस से शराब की बड़ी खेफ की तस्करी की जा रही है। ट्रेन को विशेष आदेश पर क्यूल स्टेशन पर तड़के 3.50 बजे रोका गया। बाद में चलती ट्रेन में बोगियों की तलाशी शुरू हुई। एस-6 कोच में आरपीएफ को 6 बैग बरामद हुए जिसमें अलग अलग ब्रांड की 525 शराब की बोतलें थी। सभी गिरफ्तार आरोपी पटना जिले के बाढ़ थाना क्षेत्र के हैं। आरोपियों की पहचान अमरजीत कुमार, चंदन कुमार, रुदल यादव, संजीत महतो, विजय कुमार और ओम प्रकाश के रूप में हुई है। इंस्पेक्टर अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि आरोपियों को पटना जंक्शन पर उतारा गया। जब्त शराब और गिरफ्तार आरोपियों को जीआरपी पटना के हवाले किया गया है।

वहीं एक अन्य मामले में मोकामा स्टेशन पर शराब की 115 बोतलों के साथ 3 तस्करों को गिरफ्तार किया गया। ट्रेन संख्या 02233 विभूति एक्सप्रेस शनिवार तड़के 2.43 बजे मोकामा स्टेशन पर पहुंची। सब इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार झा के नेतृत्व में गश्त कर रही आरपीएफ को प्लेटफार्म नंबर 3 के पश्चिमी छोर पर तीन लोग संदिग्ध परिस्थितियों में दिखे। उनके पास 2 भारी भरकम हैंड बैग था। बैग की जांच करने पर 115 बोतल देशी शराब मिली।

आरपीएफ ने घोसवरी थाना क्षेत्र के गोसाईगांव के कृष्ण मुरारी, पप्पू कुमार और निबास कुमार को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों के खिलाफ बिहार आबकारी संशोधन अधिनियम 2018 की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।