पटना के डॉक्टर ने किया मृत घोषित, नालंदा के कंपाउंडर ने किया जिंदा।

पटना के डॉक्टर ने किया मृत घोषित, नालंदा के कंपाउंडर ने किया जिंदा।(Mokama Online)

बिहार।पटना।नालंदा।नालंदा का रहने वाला 18 वर्षीय रौशन कुमार रेल हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गया।घायल रौशन को पटना के कांटी फैक्ट्री रोड के अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा मृत घोषित कर दिया गया।बेटे को खोने के बाद रौशन के पिता संजय प्रसाद यादव ने शव को जलाने के लिए नालंदा ले जाने का निश्चय किया।अपने परिजनों के साथ वह रौशन के शव को लेकर नालंदा चले आए।(371 Mokama Online News)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

371 Mokama Online News
विज्ञापन

परिजनों और रिश्तेदार शव के पास जुटे हुए थे, रोना पीटना मचा हुआ था।(Mokama Online)

परिजनों और रिश्तेदार शव के पास जुटे हुए थे, रोना पीटना मचा हुआ था।इसी बीच हिलसा के एक कंपाउंडर को कुछ शक हुआ तो उन्होंने मृतक के शरीर में अपनी मोटर सायकिल की चाभी चुभानी शुरू कर दी।चाभी के चुभते ही शव में हरकत होनी शुरू हो गई।परिजनों ने दुबारा पटना ले जाकर युवक को दनियावां के एक अस्पताल में भर्ती करवाया।(371 Mokama Online News)

371 Mokama Online News
विज्ञापन

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

पटना के उस डॉक्टर के तजुर्बे पर शक किया जा रहा है जिसने रौशन को मृत घोषित कर दिया था।(Mokama Online)

अब रौशन की हालत में धीरे धीरे सुधार हो रहा है।रौशन के परिजन काफी खुश हैं।लेकिन अब पटना के उस डॉक्टर के तजुर्बे पर शक किया जा रहा है जिसने रौशन को मृत घोषित कर दिया था।(370 Mokama Online News)

Mokama Online
विज्ञापन

नालंदा हिलसा का रहने वाला 18 वर्षीय रौशन मंगलवार को एक ट्रेन की चपेट में आ गया था।(Mokama Online)

ज्ञात हो कि नालंदा हिलसा का रहने वाला 18 वर्षीय रौशन मंगलवार को एक ट्रेन की चपेट में आ गया था।बुरी तरह घायल रौशन को पटना के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।पटना के डॉक्टर ने रौशन को मृत घोषित कर दिया।मायूस परिजन रौशन के शव को लेकर पहुंचे नालंदा ।घर पर रौशन के दाह संस्कार की तैयारी हो रही थी।इसी बीच हिलसा के एक कंपाउंडर ने चाभी चुभाकर देखा तो रौशन के शरीर में हलचल दिखाई पड़ा। पुनः पटना दनियावा के एक अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया ।रौशन की हालत धीरे धीरे सुधर रही है।

माही क्लिनिक
विज्ञापन

मोकामा और आस पास के इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

ये भी पढ़ें:-याद किये गये चाकी।

Mokama Online
विज्ञापन
Mokama Online
विज्ञापन

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!