फागुन के आहट से मौसम हुआ दीवाना।

फागुन के आहट से मौसम हुआ दीवाना।(Mokama Online)

बिहार।पटना।मोकामा।कल माघी पूर्णिमा का त्योहार मोकामा में बड़े ही धूम धाम से मनाया गया।आज से फागुन की बसंती बयार लोगों को रंगीन बनाने को आतुर दिख रही है।न ज्यादा सर्दी न ज्यादा गर्मी ,पीली चूनर ओढ़े प्रकृति ने मानो धरती का श्रृंगार किया हो।(358 Mokama Online News)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

358 Mokama Online News
विज्ञापन

मोकामा के महादेव स्थान और तपस्वी स्थान में होली गायन की समृद्ध परंपरा रही है।(Mokama Online)

मोकामा के महादेव स्थान और तपस्वी स्थान में होली गायन की समृद्ध परंपरा रही है।फागुन महीने का हर दिन होली के उत्सव के समान है।फागुन होली गायन हर्ष,उल्लास के साथ ही ऋतु परिवर्तन का भी प्रतीक माना जाता है।रंगभरनी एकादशी पर होली गायकी शुरू हो जाएगी।मोकामा में इस दिन से जगह जगह फगुआ बयार में रंगे ढोलक और मृदंग के साथ फगुनाहट के रास रंग में डूबे लोग नजर आने लगेंगे। मंदिर परिसर में आज से ही होली के पारंपरिक गीत बजने लगेंगे।(358 Mokama Online News)

358 Mokama Online News
विज्ञापन

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

मोकामा से बाहर रहने वाले लोग वापस आने के लिए टिकट की जुगत में जुट चुके हैं।(Mokama Online)

मोकामा से बाहर रहने वाले लोग वापस आने के लिए टिकट की जुगत में जुट चुके हैं।मोकामा कृषि प्रधान जगह है ।टाल मोकामा के किसानों की लाइफ लाइन है।अब फसलें परवान चढ़ेगी।फसलों के चिपुड़ अब पुष्ट हो जायेंगे। होली आते आते ये फसल काटने के लिए तैयार हो जाएंगे।

माही क्लिनिक
विज्ञापन

मोकामा और आस पास के इस तरह के अन्य खबरों को जानने के लिए मोकामा ऑनलाइन डॉट कॉम के अतिरिक्त हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक ,ट्विटर ,इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर हमे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें:-स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

ये भी पढ़ें:-याद किये गये चाकी।

Mokama Online
विज्ञापन
Mokama Online
विज्ञापन

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!