पत्रकार सुरक्षा कानून की मांग के लिए राज्यपाल को पत्रकारों ने सौंपा ज्ञापन

पत्रकार सुरक्षा कानून की मांग के लिए राज्यपाल को पत्रकारों ने सौंपा ज्ञापन।

पटना। बिहार में पिछले कुछ महीनों में पत्रकारों पर कई बार हमले हो चुके हैं। इसमें कुछ पत्रकारों की हत्या भी शामिल है। पत्रकारों पर हो रहे हमले के विरोध में अब बिहार के पत्रकारों ने राज्यपाल फागु चौहान से मिलकर पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग की है।(163 Mokama Online News)

मोकामा ऑनलाइन की वाटस ऐप ग्रुप से जुड़िये और खबरें सीधे अपने मोबाइल फ़ोन में पढ़िए ।

163 Mokama Online News

पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग और पत्रकारों को जिंदा जलाए जाने के मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने।

पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग और पत्रकारों को जिंदा जलाए जाने के मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने को लेकर बिहार के पत्रकारों का एक शिष्टमंडल बिहार के राज्यपाल फागू चौहान से मिला और उन्हें 3 सूत्री मांगों का ज्ञापन दिया। बिहार प्रेस मेंस यूनियन के बैनर तले आयोजित पत्रकारों के शिष्टमंडल का नेतृत्व भारती श्रमजीवी पत्रकार संघ के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव और वरिष्ठ पत्रकार एस एन श्याम ने किया।(163 Mokama Online News)

पत्रकारों की शिष्टमंडल में बिहार प्रेस मेंस यूनियन के सचिव प्रभात कुमार और संगठन सचिव अमित कुमार शामिल थे।

पत्रकारों की शिष्टमंडल में बिहार प्रेस मेंस यूनियन के सचिव प्रभात कुमार और संगठन सचिव अमित कुमार शामिल थे। राज्यपाल की ओर से मात्र तीन लोगों को ही शिष्टमंडल में शामिल होने की अनुमति दी गई थी।

मोकामा ऑनलाइन के इन्स्टाग्राम पर हमसे जुड़िये ।

राज्यपाल को दिए गये ज्ञापन में पत्रकारों ने मधुबनी के पत्रकार/ आरटीआई एक्टिविस्ट बुद्धिनाथ झा

राज्यपाल को दिए गये ज्ञापन में पत्रकारों ने मधुबनी के पत्रकार/ आरटीआई एक्टिविस्ट बुद्धिनाथ झा को प्राइवेट नर्सिंग होम माफियाओं द्वारा जिंदा जलाए जाने के आरोपों और मोतिहारी के इलेक्ट्रॉनिक चैनल सुदर्शन न्यूज़ के जिला संवाददाता मनीष कुमार सिंह की हत्या की जांच सी बी आई से कराने की मांग की।साथ ही पत्रकारों की सुरक्षा के लिए महाराष्ट्र सरकार की तर्ज पर बिहार में भी पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांग की गई है।(163 Mokama Online News)

ये भी पढ़ें:-स्व.पं. साधू शरण शर्मा ,खूब लड़े अंग्रेजो से।

ये भी पढ़ें:-याद किये गये चाकी।

 163 Mokama Online News

टिप्पणियाँ बंद हो जाती हैं, लेकिन Trackbacks और Pingbacks खुले हैं।

error: Content is protected !!