मोकामा
समाचार

जल संकट ,प्यासा मरता मोकामा

Spread the love

अभी गर्मी की दस्तक भी नहीं आई मगर मोकामा प्यास से मरने लगा,पीछे 15 दिन से मोकामा वाटर सप्लाय की स्तिथि बदतर हो गई है.इतना गंदा पानी की नाली भी गंदा हो जाये .कंकड़ पत्थर निकल रहे है ,कोई सुनने को तैयार नहीं है .बिहार पटना जिले मे, मोकामा नगर परिषद के जनता गंदे पानी पीने के लिए मजबूर वार्ड नंबर 11 मैं बोरिंग से बालू एवं कंकर युक्त सप्लाई के द्वारा आ रहा है जिसमें वार्ड नंबर 1,10,11,12,13, एवं 14 समस्याएं हैं पीएचडी विभाग के द्वारा जो वार्ड नंबर 11 में बोरिंग किया गया है मोटर तय मानक 40 HP लगना था जो 25 HP लगाकर खानापूर्ति किया गया है मोकामा नगर परिषद मैं आधा से ज्यादा वार्डों में कहीं एक बूंद भी पानी भी नहीं पहुंचता है कुछ ऐसे वार्ड है जहां पाइप ही नहीं पहुंची है और जो पाइप बिछाया गया है वार्ड नंबर 12 और 13 के बीच में 6 इंची के बदले 4 इंची ही लगाया गया है यह तो नमूना के रूप में है यही स्थिति 28 वार्ड में जहां भी बिछाया गया है विभागीय लूट बड़े पैमाने पर किया गया है भारत सरकार में बिहार सरकार द्वारा पीएचडी विभाग का अधिकारी को छोड़कर ईमानदारी से जांच करवाया जाए और जनता की समस्याओं का निदान करवाया जाए.

वार्ड न 14,15 में अपनी दिन में मात्र 10 से 15 मिनट  तक आता है .पुराना पाइप लाइन था तो दिन में 3 बार पानी आता था,उस पाइप लाइन को जबरदस्ती बंद कर दिया ,जनता पर नया कनेक्शन थोप दिया गया . नया से दिन में 2 बार पानी आता है,14 15 वार्ड में बिलकुल पानी नहीं आता जिसके घर मोटर है वंहा भी मुश्किल 15 मिनट पानी आता है . मैंनाक टोला तो प्यास से  ही मर रहा है लोग अपनी जरूरत कुएं और चापानल से पूरा कर रहे है.सांसद ,विधायक ,एम् एल सी जी ध्यान दीजिये ये आपका भी घर है .