मोकामा की बेटी 3 बार मेट्रिक फेल ,तीनो बार गणित में 17 नंबर ,संयोग या साजिश

बिहार बोर्ड से छात्रा ने पूछा सवाल, मैट्रिक में तीन बार से एक ही पेपर में समान अंक क्‍यों?बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में फेल कर रही एक छात्रा को तीन बार से एक ही विषय में समान अंक आ रहे हैं। छात्रा का कहना है कि ऐसा संभव नहीं, उसे इस बार करीब 70 अंक की अपेक्षा थी।अगर यह संयोग है तो अद्भुत है। अगर नहीं तो बड़ा सवाल भी है। बिहार विद्यालय परीक्षा समीति (बिहार बोर्ड) के हाल में जारी मैट्रिक रिजल्ट में एक छात्रा को एक ही विषय में तीसरी बार 17 अंक आए हैं। छात्रा शुक्रवार को बिहार बोर्ड कार्यालय में अपनी ऐसी समस्‍याओं के साथ पहुंचे सैकड़ों अन्‍य छात्र-छात्राओं में शामिल थी।लगातार तीन परीक्षाओं में समान नंबर.पटना के मोकामा की रहने वाली छात्रा प्रियंका कुमारी पिछले साल से मैट्रिक की परीक्षा में फेल कर रही है। वजह है गणित में 17 अंक। मोकामा के मोर स्थित श्रीभगवती हाईस्कूल की छात्रा प्रियंका को 1917 की मैट्रिक परीक्षा में गणित में 17 अंक आए। उसने कंपार्टमेंटल परीक्षा दी। उसमें भी गणित में 17 अंक हीं आए। फिर 2018 की परीक्षा के हाल में घोषित रिजल्‍ट में भी प्रियंका को गणित में 17 अंक ही आए हैं। छात्रा ने इसपर सवाल उठाते हुए अनियमितता की आशंका जाहिर की है।,/p>

छात्रा का दावा, आने चाहिए अधिक नंबर.प्रियंका का कहना है कि उसकी परीक्षा ठीक गई थी तथा उसे 70 के आसपास अंक आने चाहिए। उसके अनुसार मूल्‍यांकन में गड़बड़ी की गई है। हालांकि, बोर्ड के एक अधिकारी ने नाम नहीं देने के आग्रह के साथ कहा कि गोपालगंज में मैट्रिक की कॉपियां गायब हुईं हैं तो ऐसा नहीं कहा जा सकता कि कोई गड़बड़ी हुई ही नहीं है। लेकिन, जरूरी नहीं कि यह गड़बड़ी का ही मामला हो।

मरने से डरा बलात्कारी मनीष

रामपुर डुमरा  मोकामा में हुए मुठभेड़ में पहले तो अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग करके बचना चाहा .पर एएसपी  मनोज कुमार तिवारी  कंहा मानने वाले थे , पहले तो एएसपी ने गोलियां चला रहे अपराधियों को बार-बार आत्मसमर्पण करने की चेतावनी देते रहे लेकिन एएसपी द्वारा बार-बार आत्मसमर्पण की चेतावनी देने के बावजूद अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग जारी रखी नतीजन  अपराधियों की अंधाधुंध फायरिंग देख एएसपी ने अपने साथ मौजूद हथिदह थानाध्यक्ष अविनाश कुमार, पंचमहला ओपी प्रभारी सुभाष कुमार को भी फायरिंग का आदेश दिया.जब पुलिस ने अपना आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया .जब पुलिस की गोलियां अपराधियों के कान और सर के पास से जाने लगी पुलिस को भारी पड़ता देख अपराधियों ने फायरिंग बंद कर दी.

वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज के निर्देश पर एएसपी मनोज तिवारी के नेतृत्व में गई टीम ने रामपुर डुमरा निवासी गौरव कुमार और शुभम कुमार, बड़हिया थाना अंतर्गत जैतपुर निवासी चंदन उर्फ चिंटू, मनीष कुमार और आलोक राज को गिरफ्तार किया. मनीष कुमार ने एक युवती का अपहरण कर अपने साथियों के साथ मिलकर बलात्कार किया था और उसके बाद गला दबाकर हत्या कर दी थी.