बिहारशरीफ-मोकामा दूरी होगी कम

मोकामा से बिहारशरीफ सड़क निर्माण के लिए फॉरेस्ट  बिभाग का यरेंस मिलने से साडी पेंच दूर हो गई है . लगभग  एक साल से फॉरेस्ट बिभाग से  क्लियरेंस नहीं मिलने से निर्माण कार्य  में देरी हो रही थी. वन विभाग से 42 हेक्टेयर जमीन में फॉरेस्ट क्लियरेंस मिल गया  है. सहमति मिलने के बाद अब सड़क को दस मीटर चौड़ा करने का काम जल्द शुरू हो जायेगा .  गया-मोकामा एनएच-82 का हिस्सा बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा सड़क को एनएचएआई ने  टेकओवर कर निर्माण कराने का निर्णय लिया है. 55 किमी सड़क के चौड़ीकरण पर लगभग चार करोड़ खर्च होंगे.

करीब दस मीटर चौड़ी होगी सड़क
एनएचएआई के आधिकारिक सूत्र ने बताया कि बिहारशरीफ-मोकामा अभी टू लेन रोड  है. सात मीटर चौड़ी सड़क के दोनों किनारे डेढ़ – डेढ़ मीटर फ्लैंक का निर्माण करना है.   सड़क के चौड़ीकरण से वाहन के आवागमन में सहूलियत होगी. उल्लेखनीय है कि  गया- मोकामा एनएच-82 की कुल लंबाई 147 किलोमीटर है. गया से वजीरगंज, हिसुआ, राजगीर, बिहारशरीफ तक एनएच -82 का टू लेन से फोर लेन का निर्माण  होना है. निर्माण कार्य में जाइका फंडिंग कर रही है.
शेष हिस्सा बिहारशरीफ – बरबीघा- मोकामा तक कुल 55 किलोमीटर का फिलहाल चौड़ीकरण होगा. काम कराने वाली एजेंसी को पुल-पुलिया, कल्वर्ट, ड्रेन आदि का भी निर्माण करना है. दो साल में पक्कीकरण का काम पूरा करने के बाद एजेंसी को चार साल तक उसका मेंटेनेंस करना है.