मानवता की मिसाल है मोकामा

एक लाचार को मदद कर मानवता की मिसाल दी युवाओ ने

मानवता की मिसाल मोकामा

असहाय को अस्पताल पहुंचा पेश की मानवता की मिसाल मोकामा। नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड नंबर 5 में भटके हुए एक व्यक्ति को युवाओं ने जहां सड़क से उठाकर जख्मी हालत में अस्पताल पहुंचाया वही मानवता की मिसाल पेश की है। गौरतलब है कि रविवार रात से ही एक विक्षिप्त भटके हुए व्यक्ति वार्ड नंबर 5 पहुंच गया जहां पर वार्ड नंबर 5 के युवाओं ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए घायल व्यक्ति को मोकामा के रफल अस्पताल पहुंचाया जिसके बाद उस व्यक्ति का इलाज हो रहा है बताया जाता है कि किसी ट्रेन से व्यक्ति गिर गया था जिसके बाद वह सड़क किनारे गिरा था उसके शरीर पर कई जगह जख्मो के निशान भी थे ।

मानवता की मिसाल है मोकामा
मानवता की मिसाल है मोकामा

सभी लोग घायल को देख रहे थे लेकिन उस व्यक्ति की किसी ने मदद तक नहीं कर रहा था। लेकिन वार्ड नंबर 5 के युवाओं ने 102 नंबर पर फोन कर मदद मांगी और वही रेफरल अस्पताल से आए एम्बुलेंस ने अज्ञात व्यक्ति का इलाज संभव हो सका। फिलहाल व्यक्ति की पहचान नहीं हो पाई है और उसका इलाज मोकामा के रेफरल अस्पताल में चल रहा है।

एक और जन्हा मोकामा का नाम नकारत्मक कारणों से ही चर्चा में बना रहता है ,वन्ही आज  इन युवाओं ने इस लाचार को अस्पताल पंहुचा कर मानवता की मिसाल दी है.जिसे देखकर लोग नाक  मुंह सिकोड़ रहे थे उन्हें इन युवाओं ने उचित समय पर सही जगह पहुचाया .एक बहु चर्चित कहावत है शबे सहायक शबल के कोई न निबर्ल सहाय ,पर इन युवाओं ने इस

कहावत को झुठला दिया और एक एक नयी शुरुआत की .कल से ही मोकामा के हर जगह इस नेक कार्य की चर्चा हो रही है ,लोग साधुवाद दे रहे हैं की इन युवाओं ने कैसे एक असहाय वक्ती को साहारा दिया ,उसकी जान बचाने में अपनी भूमिका अदा की.मोकामा आज अपने येसे ही युवाओ पर गर्व करता है जो बिना किसी स्वार्थ के लोगोको मदद देते है .

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.