मोकामा
समाचार

पुलिस है चौकन्नी ,राजेंद्र सेतु पर छोटे-बड़े वाहनों का परिचालन सामान्य

Spread the love

महात्मा गांधी सेतु पर भारी वाहनों पर रोक से राजेंद्र सेतु पर वाहनों की आवाजाही पर खास असर नहीं पड़ा है. राजेंद्र सेतु पर छोटे-बड़े वाहनों का परिचालन सामान्य रूप से जारी है. राजेंद्र सेतु पटना से उत्तरी बिहार जाने वाले भारी वाहनों के लिए बेहतर विकल्प साबित हो रहा है.स्थानीय पुलिस व प्रशासन सेतु पर यातायात की सुचारु व्यवस्था के लिए अलर्ट है. बुधवार की सुबह राजेंद्र सेतु पर भारी वाहन खराब हो जाने से थोड़ी देर के लिए जाम की स्थिति बनी, लेकिन पुलिस की तत्परता से परिचालन जल्द सामान्य हो गया.बताया जा रहा है कि सेतु पर बालू व कंक्रीट लदे ओवर लोडेड ट्रकों का अक्सर ब्रेक डाउन हो जाता है. आगे निकलने की होड़ में छोटे वाहन ओवरटेक करते हैं. इससे सेतु पर यातायात व्यवस्था चरमरा जाती है. जिला प्रशासन के निर्देश पर स्थानीय पुलिस ओवर लोडेड भारी वाहनों पर सख्ती बरतने का दावा कर रही है.

प्रभारी बीडीओ ने जानकारी दी कि राजेंद्र सेतु के आसपास के हथिदह, मरांची और पंचमहला ओपी थानों को ओवर लोडिंग पर कार्रवाई का निर्देश दिया गया है. राजेंद्र सेतु के क्षतिग्रस्त पैदल पथ की जल्द मरम्मत शुरू होगी. ट्रक के दुर्घटनाग्रस्त होने से थोड़ी दूर तक पैदल पथ की ढलाई टूट गयी थी. पुल इंस्पेक्टर नागमणी कुमार ने जानकारी दी कि सेतु का सड़क मार्ग फिलहाल सुरक्षित है. सेतु पर भारी वाहनों पर रोक की योजना नहीं है, लेकिन सेतु की क्षमता के अनुसार वाहनों के आवागमन का निर्देश है. इस पर सख्ती से पालन के लिए रेलवे ने जिला प्रशासन से जवाब-तलब किया है. सेतु के रेल मार्ग का मेंटेनेंस हो रहा है. इसके बाद क्षतिग्रस्त पैदल पथ व ज्वांइटर के पास की ढलाई दुरुस्त करायी जायेगी.रेल सूत्रों की मानें तो सेतु का निर्माण 16 टन क्षमता वाले वाहनों के अनुरूप ही हुआ था . बाद में 16 टन से अधिक क्षमता वाले वाहनों का सेतु पर परिचालन शुरू हो गया, जिसको लेकर सेतु का रोड क्रॉस गाडर क्षतिग्रस्त हो गया.इसकी बार-बार मरम्मत के बाद भी सड़क मार्ग दुरुस्त नहीं हो सका. तब जाकर रेलवे व एनएचआई ने कोलकाता की कंपनी को रोड क्रॉस बदलने का काम दिया. वहीं , रोड क्रॉस बदल कर सेतु के सड़क मार्ग को 50 टन क्षमता वाले वाहनों के परिचालन के अनुकूल बनाया गया, लेकिन अब 70 से 80 टन बालू व कंक्रीट लेकर 14 और 18 चक्के वाले वाहन राजेंद्र सेतु पार कर रहे हैं. (सोजन्य:-प्रभात खबर)