Spread the love
दरअसल, खेलों के लिहाज से भारत के लिए रविवार का दिन कामयाबियों भरा रहा। इसी कड़ी में मोकामा की शमा परवीन ने भी भारत की स्वर्णिम में अपना अहम योगदान दिया। टीम में कॉर्नर पोजिशन से खेलने वाली शमा का खेल काफी आकर्षक रहा। फाइनल मुकाबले में भारत ने कोरिया को 42-20 से मात दी।
पिता से सीखी कबड्डी
सीनियर महिला टीम में बिहार से एकमात्र खिलाड़ी के तौर पर शामिल शमा परवीन अपनी टीम की चर्चित रेडर भी हैं। शमा परवीन ने इस फाइनल मुकाबले में भी कई प्वाइंट भी अर्जित किए थे। अल्पसंख्यक परिवार से आने वाली शमा के पिता ने ही उसे कबड्डी सिखाई थी।

पिता ने जताई खुशी
बेटी और टीम की कामयाबी व प्रदर्शन पर पिता मोहम्मद इलियास ने खुशी जताई है। बता दें कि भारतीय महिला टीम ने सेमीफाइनल में श्रीलंका को 47-17 से हराया था।

मोकामा की ‘शमा’ एशियन कबड्डी चैंपियनशिप में हुई रौशन

Leave a Reply