मोकामा
संपादकीय

मोकामा ऑनलाइन के चेलेंज में जीत गए पप्पू यादव,गोसाई गावं जाकर मृतक परिवार को दिलासा दिया.

Spread the love

अभी कल ही मोकामा ऑनलाइन पर पप्पू यादव और तेजस्वी यादव पर यादव के नाम पर सिर्फ वोट बैंक के लिए राजनीती करने के लिए कटाक्ष किया गया था.लिखा गया था की ये दोनों ही जब चुनाव रहता है तभी यादव के दुःख में शरीक होते है.मगर पप्पू यादव ने मोकामा ऑनलाइन पर खबर लिखे जाने के 24 घंटे के अन्दर ही मृतक परिवार से मिलकर इस मिथक को तोड़ दिया की वो सिर्फ चुनावी नेता है .उन्होंने ने परिवार से मिलकर सांत्वना दी ,पुलिस को निर्देश दिया की किसी भी सूरत में निर्दोष की हत्या न हो एसा बंदोबस्त किया जाय. उन्होंने क्षेत्रीय नेताओं को भी लतारा की लाश पर राजनीती नहीं होनी चाहिए.मौत का सिलसिला यंही बंद हो .दोनों पक्ष से अपील किया की मौत का खेल बंद कर उन्हें सामान्य नागरिक बनने के लिए भी कहा .पप्पू यादव के साथ मोकामा के ललन सिंह भी साथ थे.उन्होंने भी कहा की मौत का खेल सही नहीं है जो भी ये घिनौना खेल खेल रहे है वो बहुत ही गलत कर रहे है इसका अंजाम उनके लिए भी सुखद नहीं हो सकता .एक के बाद एक मर्डर हो रहा है पुलिस कंहा है क्या कर रही है .मोकामा और बाढ़ को कुछ लोग राजनीती के चक्कर में मौत का अखाडा बना दिया.

बड़ा से बड़ा से अपराधी कोई भी हो उसे कानून का डर होना चाहिए. अपराधियों को कानून का डर नहीं है.क्षेत्रीय राजनीती में हत्या का खेल बंद होना चाहिए.सरकार और पुलिस इस पर लगाम लगाये.दोनों नेताओं ने पुलिस से आग्रह किया की आगे से कोई भी निर्दोस मारा नहीं जाय इसके लिए समुचित कार्यवाही की जाय.मृतक के परिवार वालो को 50 हजार की आर्थिक सहायता भी किया पप्पू यदव जी ने .