मोकामा
संपादकीय

बस स्टेंड का होगा जीर्णोधार

Spread the love

मोकामा में मारवाड़ी स्कूल के समाने का बस स्टेंड वर्षो से बंद रहने के कारन बिलकुल जर्जर अवस्था में था.पिछले कुछ समय से गावं के ही कुछ युवक इस पर चर्चा  कर रहे थे. विकास कुमार ने इस मुद्दे को जोड़ शोर से सोशल मिडिया पर उठाया तो इस मुद्दे को हवा मिली, बात जनप्रतिनिधि के कानो तक पहुची और  अब इस बस स्टेंड का पुनह जीर्णोधार होने जा रहा है .सरकारी पदाधिकारियों द्वारा यंहा सरकरी बस का तःरव भी निर्धारित किया गया है .अब मोकामा से पटना जाने के लिए बस सुविधा मिल सकेगी .जबकि मुंगेर जाना भी आसान होगा.

“आज मैं एक ऐसे मुद्दे को आप सभी के सामने में रखने जा रहा हूँ जिसका जिक्र मैं अपने पूर्व के पोस्ट में भी कई बार कर चुका हूँ। आज मैं मोकामा में बंद पड़े सरकारी बस स्टैंड का मुद्दा आप सभी के समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ। 1980 से 90 के बीच के दौर में मोकामा के इस सरकारी बस स्टैंड से पूरे राज्य भर के लिए गाड़ियाँ खुला करती थी। पूरे राज्य भर के यात्रिओं का यहाँ आना जाना लगा रहता था जिसके कारण मोकामा के सभी वर्ग के लोगों के लिए अनेक रोजगार के अवसर उपलब्ध होता था। परन्तु श्यामसुंदर सिंह ( धीरज जी) के कार्यकाल के दौरान ही ये सरकारी बस स्टैंड को बंद कर दिया गया। लगभग 15 कट्ठा में बना ये सरकारी बस स्टैंड सिर्फ कहने भर के लिए ही बस स्टैंड रह गया है। इतना बड़ा जमीन (लगभग 15 कट्ठा) आज बेकार पड़ा हुआ है। यदि इसको फिर से चालू कर दिया जाए तो मोकामा में छोटे व्यापारियों से लेकर बड़े व्यापारियों को ही लाभ नही बल्कि अनेक बेरोजगार गरीब लोगों को खुद के रोजगार के साधन प्राप्त होंगे। मोकामा के विकाश हेतु इस बन्द पड़े बस स्टैंड को फिर से चालू कराने हेतु कौन से नेता या जनप्रतिनिधि सामने आएंगे ये भी देखने वाली बात होगी। वैसे हम सभी जनता को भी जागरूक होकर इस मुद्दे को जनप्रतिनिधियों तक पहुंचना होगा।विकास कुमार की पोस्ट