रंजीत कुमार को उम्रकैद,सूरजभान बरी

रंजीत कुमार को उम्रकैद,सूरजभान बरी

हत्या के मामले में सूरजभान सिंह बरी

चर्चित उमेश यादव हत्याकांड में रणजीत कुमार को उम्र कैद ,जबकि पूर्व सांसद सूरजभान सिंह को बरी कर दिया गया .डीजे-3 बाढ़  ने शुक्रवार को मोकामा के चर्चित उमेश यादव हत्याकांड के अभियुक्त रंजीत कुमार को मुकदमे की बहस के बाद उम्रकैद की सजा सुनाई है. वहीं कोर्ट ने आरोपी पर 15 हजार का जुर्माना भी लगाया है। सजा सुनाने के बाद आरोपी रंजीत कुमार सोनार को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत के तहत जेल भेज दिया है. इस मामले में लोजपा नेता सूरजभान सिंह सहित तीन आरोपी बरी कर दिए गए थे.बरी किये गये दुसरे लोगों में गिरधारी सिंह और स्वराज सिंह मांडो है.इनका  भी बहुत गहरा  आपराधिक इतिहास रहा है.

हत्या के मामले में सूरजभान सिंह बरी
हत्या के मामले में सूरजभान सिंह बरी

ज्ञात हो की मोकामा पूर्वी क्षेत्र संख्या 46 के पूर्व जिला पार्षद रहे कुख्यात अपराधी उमेश यादव की 2003 में दिनदहाड़े मोकामा गौशाला रोड  में गोलियों से छलनी कर हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड में  उमेश यादव के परिजनों ने मोकामा विधायक सूरजभान सिंह को आरोपी बनाया था.गिरधारी सिंह,मांडो ,रंजीत कुमार सहित सूरजभान को आरोपी बनाया गया था. जिसकी सुनवाई आज पूरी होने के बाद सूरजभान सिंह,गिरधारी सिंह और स्वराज सिंह मांडो को इस मामले में दोषमुक्त करार दिया गया है जबकि रंजित कुमार को उम्र कैद की सजा दी गई है.जिस समय ये हत्याकांड को  अंजाम दिया गया था उस समय सूरजभान  सिंह मोकामा  के विधायक हुआ करते थे.

इस सुनवाई के बाद सूरजभान सिंह के समर्थकों में खुशियों की लहर दौड गई ,जबकि रंजीत कुमार के परिजन उदास  आये .अभी  लोकसभा का चुनाव होने को है और सूरजभान का बरी होना उनके समर्थकों में एक नयी उम्मीद लेकर आई है.यंहा यह जानना जरूरी है की सूरजभान सिंह पर कोर्ट ने चुनाव  लड़ने पर रोक लगा रखी है.इसी वजह से सूरजभान सिंह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ पाए और अपनी पत्नी वीणा देवी को चुनाव लडवाया .वीणा देवी अभी मुंगेर लोक् सभा से सांसद हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मोकामा में हुई  गत वर्ष 14 अक्टूबर  की सभा में सूरजभान सिंह ने काफी सक्रीय भूमिका निभाई थी .

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.