खुले में शौच मुक्त मोकामा

खुले में शौच मुक्त मोकामा

खुले में शौच मुक्त मोकामा

खुले में शौच मुक्त मोकामा,मोकामा नगर परिसद के मुख्य बाज़ार में एक भी सार्वजानिक शौचालय नहीं ,अगर बाज़ार आई महिला को पेशाब भी लग जाए तो कोई उपाय नहीं ,अगर बहुत मजबूर हुई तो सड़क किनारे  नाली पर ही निपटना होगा उन्हें  अपनी सारी  शर्म हया छोड़ कर नही तो मोकामा में कोई जुगाड़ तक नहीं .आज मोकामा को खुले में शौच मुक्त किया गया .हमारे जनप्रतिनिधि को भी दिखाई नहीं देता की अगर बाज़ार में किसी महिला को अगर शौच आ जाए तो आखिर कन्हा निवृत होगी .शर्म हया छोड़ कर सडक किनारे खेत या नाली पर निवृत होने के सिवा कोई विकल्प नहीं और खुले से शौच मुक्त मोकामा .

खुले में शौच मुक्त मोकामा
खुले में शौच मुक्त मोकामा

खुले में शौच मुक्त मोकामा,महात्मा गाँधी  की जयंती पर प्रखंड प्रमुख की अध्यक्षता में समारोह आयोजित कर मोकामा प्रखंड को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया। पटना जिले के पहले ओडीएफ प्रखंड के तौर पर मोकामा को चयनित किया गया था। मुख्य अतिथि बाढ़ के लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी संजय कुमार थे। मुख्य अतिथि संजय कुमार ने बताया कि पटना जिले का पहला प्रखंड मोकामा है जिसे कि पूरी तरह खुले में शौच से मुक्त घोषित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि प्रखंड के सभी पंचायतों में शौचालय की व्यवस्था हो गई है।

बीडीओ सतीश कुमार ने बताया कि मोकामा प्रखंड के 15 पंचायत ओडीएफ घोषित होने के बाद अब लोगों को खुले में शौच जाने की आवश्यकता नहीं है। जिला स्वच्छता समन्वयक संजय कुमार ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सभी पंचायत प्रतिनिधि और सरकारी अधिकारी बधाई के पात्र हैं। इस मौके पर सभी पंचायत प्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया और सभी पंचायतों के मुखिया को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया। मौके पर मोकामा पूर्वी जिला परिषद सदस्य अशोक पंडित, शिवनार मुखिया रंजना कुमारी, रामपुर डुमरा मुखिया मुकेश कुमार, मरांची उत्तरी मुखिया राम कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता अजय सरकार सहित अन्य मौजूद थे।

सरकारी पदाधिकारियों में सीओ रामप्रवेश राम, कार्यपालक पदाधिकारी संजय कुमार, कृषि पदाधिकारी रविंद्र सिंह सहित अन्य मौजूद थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.