ज्ञान प्रभा शिक्षण संस्थान में हिन्दी दिवस मनाया गया

आज 14 सितंबर को ज्ञान प्रभा शिक्षण संस्थान में हिन्दी दिवस मनाया गया।

इस अवसर पर एक दिन पूर्व हिन्दी प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमें सफल विद्यार्थियों को इस दिवस पर पुरस्कृत किया गया।इस मौके पर विद्यार्थियों ने काव्य पाठ किया । शिक्षण संस्थान के निदेशक पारस कुमार ने हिन्दी के महत्व और व्यापक उपयोग पर चर्चा की। प्राचार्य विद्यासागर ने हिन्दी के सुसज्जित लेखन कला पर प्रकाश डाला और कहा कि सुंदर लिखावट और बोलचाल हिन्दी के प्रति प्रेम को दर्शाता है।इस मौके पर कविता कुमारी, बबली कुमारी,सिमरन कुमारी,काजल गुप्ता,राजीव कुमार, आशीष कुमार, शाक्षी कुमारी,अंकित कुमार,देवेश कुमार इत्यादि बच्चों को पुरस्कृत किया गया। मंच का संचालन संतोष कुमार ने किया।
हर साल हिन्दी दिवस 14 सिंतबर को मनाया जाता है. 1918 में महात्मा गांधी ने हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था. 1949 में जाकर संविधान सभा ने निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी. जिसके बाद हर जगह हिन्दी भाषा को फैलाने के बाद 1953 से 14 सितंबर को हिन्दी दिवस मनाया जाता है. हिन्दी दिवस का उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए वातावरण निर्मित करना, हिन्दी के प्रति अनुराग पैदा करना, हिन्दी की दशा के लिए जागरूकता पैदा करना तथा हिन्दी को विश्व भाषा के रूप में प्रस्तुत करना है.युवाओं के बीच अंग्रेजी भाषा के प्रति बढ़ते लगाव और हिंदी भाषा की अनदेखी करने की वजह से हिंदी प्रेमी बेहद निराश हैं. यही वजह है कि हर साल देशभर के लोगों को अपनी राष्ट्रभाषा के प्रति जागरूक करने के लिए हिंदी दिवस मनाया जाता है.हमारी एकता और अखंडता ही हमारे देश की पहचान है हिंदुस्तान हैं हम और हिंदी हमारी जुबान है.जब भी होता ये दिल भावुक और ये जुबान लड़खड़ती है ऐसे समय में बस अपनी मातृ भाषा ही काम आती है. भारत के हर घर को आपस में जो साथ मिलाए संपर्क सूत्र का काम करे जो वो भाषा हिंदी कहलाए.
ज्ञान प्रभा शिक्षण संस्थान में हिन्दी दिवस मनाया गया

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.